कोलकाता: बाजार में लगी आग, 19 की मौत

Image caption आग पर करीब तीन घंटे में काबू पाया गया

कोलकाता के सियालदा इलाके के सूर्यसेन बाजार में आग से मरने वालों की संख्या बढ़कर 19 हो गई है.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मृतक के परिवार के लिए दो लाख और घायलों को 50 हज़ार रुपए दिए जाने की घोषणा की है.

कोलकाता पुलिस कंट्रोल रुम ने मृतकों का संख्या की पुष्टि की और बताया कि घायलों को पास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.लेकिन अभी घायलों की संख्या के बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ नही कहा जा सकता.

आग पर काबू पा लिया गया है. राहत का काम जारी है.

तस्वीरों में कोलकाता की आग

बीबीसी संवाददाता अमिताभ भट्टासाली ने बताया कि आग का शिकार और उसमें फँसे लोग वही हैं जो काम के बाद वहीं सो जाया करते थे.

राज्य के अग्निशमन विभाग के मंत्री जावेद खान ने बताया, "बाजार से बाहर निकलने का केवल एक ही रास्ता है. ऐसे में जो लोग भीतर रह गए थे, आग लगने के बाद वो वहीं फँसे रह गए."

आग बुधवार तड़के करीब चार बजे लगी जब कुछ लोग कॉम्प्लेक्स के अंदर सो रहे थे. आग को बुझाने के लिए 25 दमकल गाड़ियां लगाई गईं, जिन्होंने करीब तीन घंटे में इस पर काबू पाया.

अवैध बाज़ार

बताया जा रहा है कि ये आग शार्ट सर्किट होने की वजह से लगी. हांलाकि पुलिस अभी इसकी जांच कर रही है. पुलिस के मुताबिक कॉम्प्लेक्स के अंदर खोजबीन जारी है.

बीबीसी संवाददाता ने बताया कि इस बाज़ार का निर्माण अवैध तरीके से हुआ है. जिस बिल्डिंग में आग लगी है वो सात मंज़िला है और इसके भूतल व प्रथम तल पर दुकाने हैं बाकी तल पर कार्यालय है.

पिछले कुछ वर्षों में कोलकाता में आग लगने की कई बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं.

दिसंबर 2011 में एक अस्पताल में आग लग गई थी जिसमें करीब 90 लोगों की मौत हो गई थी.

साल 2008 में शहर की सबसे बड़े बाजार में आग लग गई थी जिसमें करीब 2500 दुकानें जलकर खाक हो गई थीं.

संबंधित समाचार