दिल्ली रेप कांड: नाबालिग पर हत्या का आरोप तय

  • 28 फरवरी 2013
दिल्ली पुलिस, सामूहिक बलात्कार कांड
जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने नाबालिग पर आरोप तय कर दिए हैं.

राजधानी दिल्ली में एक चलती बस में 23 वर्षीय लड़की के साथ हुए सामूहिक बलात्कार कांड के एक नाबालिग अभियुक्त पर जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने गुरुवार को औपचारिक तौर पर हत्या के आरोप तय कर दिए हैं.

यह 17 वर्षीय किशोर मेडिकल की एक छात्रा के साथ हुए सामूहिक बलात्कार और फिर उसकी हत्या के दर्दनाक कांड का एक प्रमुख अभियुक्त है.

इस किशोर का नाम कानूनी वजहों से सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है.

इस मामले में पांच अन्य लोगों पर एक फास्ट ट्रैक कोर्ट में अलग से मुकदमा चलाया जा रहा है.

समाचार एजेंसी एएफपी ने मामले से जुड़े सूत्रों के हवाले से बताया कि आरोप तय किए जाते वक्त वह किशोर जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के जज के सामने मौजूद था.

कानूनी प्रावधान

एजेंसी के मुताबिक अदालत ने नाबालिग पर बलात्कार, हत्या आपराधिक षडयंत्र और अप्राकृतिक यौनाचार के आरोप तय किए हैं.

हालांकि एएफ़पी ने एक अनाम व्यक्ति के हवाले से ख़बर दी है कि किशोर ने खुद को बेकसूर बताया है.

मौजूदा कानूनी प्रावधानों के तहत नाबालिग पर लगे आरोप अगर साबित होते हैं तो उसे अधिकतम तीन सालों के लिए सुधार गृह में भेजा जा सकता है.

इससे पहले दिल्ली जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने दिल्ली सामूहिक बलात्कार कांड के अभियुक्तों में से इस नाबालिग के बारे में तय कर दिया था कि वह किशोर ही है.

संबंधित समाचार