कांग्रेस देश की दीमक है: मोदी

Image caption नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के पहले दिन नरेंद्र मोदी के नाम का डंका बजा तो दूसरा दिन उनके भाषण ने महफिल लूट ली.

उन्होंने सबसे पहले कल के सम्मान के लिए भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं और राष्ट्रीय नेतृत्व का आभार जताते हुए कहा, “कल के सम्मान के लिए मेरे पास शब्द नहीं है.”

इसके बाद मोदी ने गुजरात की जीत को व्यक्ति नहीं विचारधारा की जीत बताया. उन्होंने कहा, “ गुजरात की जीत वहां की जनता की जीत है, देश के लाखों कार्यकर्ताओं की जीत है और राष्ट्रीय नेतृत्व के मार्गदर्शन की जीत है.”

अपने इस भाषण के दौरान भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाते हुए मोदी ने कहा, “हमारे रहते हुए हिंदुस्तान के तख्त पर ऐसी सरकार हो, हमें मंजूर नहीं.”

देश के लिए दीमक है कांग्रेस

नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस की तुलना दीमक से की है. उन्होंने कहा, “देश को कांग्रेस का दीमक लगा है, हम जानते हैं कि दीमक को मिटाना काफी मुश्किल भरा काम है. इधर से खत्म करो तो उधर आ जाते हैं, लेकिन इसका इलाज है. हम भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का पसीना इस दीमक को खत्म कर सकता है.”

मोदी ने अपने भाषण में कांग्रेस को एक परिवार की पार्टी की संज्ञा देते हुए कहा कि ये पार्टी इस परिवार के चलते ही पार्टी हर जगह नाइटवॉच मैन बिठाता है.

मनमोहन सिंह का नाम लिए बिना मोदी ने कहा कि इस बार रात इतनी लंबी होगी ये देश की जनता ने सोचा नहीं था.

मोदी ने ये भी कहा है कि मौजूदा सरकार से देश की जनता निराश हो चुकी है. मोदी के मुताबिक अगर प्रणब मुखर्जी देश के प्रधानमंत्री होते तो इतनी मुश्किलें नहीं होतीं लेकिन गांधी परिवार के चलते ही प्रणब मुखर्जी को प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया गया.

कांग्रेस कमीशन वाली पार्टी

मोदी ने अपने कार्यकर्ताओं का भरोसा बढ़ाते हुए कहा, “मैं राजनीतिक अनुभव के आधार पर कहता हूं कि देश की जनता ने कांग्रेस सरकार को फेंकने का फ़ैसला कर लिया है.”

मोदी ने ये भी कहा कि कांग्रेस की पार्टी ने देश को डूबोने का काम किया है. उन्होंने कहा, "गरीब के घर में चूल्हा नहीं जल रहा है. महंगाई इतनी बढ़ चुकी है."

मोदी ने ये भी कहा कि हम चलें या नहीं चलें, करें या नहीं करें, इसका फर्क नहीं पड़ने वाला है क्योंकि ये देश चल पड़ा है.

नरेंद्र मोदी ने भारतीय जनता पार्टी को एक ऐसी राजनीतिक पार्टी बताया है जो मिशन के साथ आगे बढ़ रही है, जबकि कांग्रेस की पार्टी को उन्होंने कमीशन की पार्टी बताया है. उन्होंने कहा, "हर काम के लिए कमीशन तय है. एक परसेंट, दो परसेंट, तीन परसेंट, इसका, उसका, भतीजा का, साले का, साली का."

इसी दौरान कार्यकर्ताओं में किसी ने दामाद का नाम जोड़ने को कहा, तो मोदी ने हंसते हुए चुटकी ली, "मेरी गृहस्थी नहीं है तो मैं नाते रिश्तों में कुछ नाम भूल जाता हूं."

निर्णायक फ़ैसले का वक्त

भारतीय जनता पार्टी के शासन के बात करते हुए उन्होंने कहा है कि पार्टी की जहॉं जहॉं सरकार रही है वहां वहां हमेशा विकास हुआ है. क्योंकि भारतीय जनता पार्टी की सरकार सुशासन में नंबर एक है.

इसके अलावा मोदी ने भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस की सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया. उन्होंने कहा, "अब वक्त आ गया जब आप फ़ैसला करें कि आप मिशन वाली पार्टी के साथ हैं या फिर कमीशन वाली पार्टी के साथ."

मोदी ने ये भी कहा कि कांग्रेस की सरकार को उखाड़ फेंकना आजादी की लड़ाई जितना ही महत्वपूर्ण काम है और इसके लिए हर किसी को आगे आकर सहयोग देना होगा. उन्होंने ये भी कहा, " अंधेरा बहुत घना है, लेकिन दीया जलाना कहां मना है."

संबंधित समाचार