कुंडा पहुंचे अखिलेश, कहा सीबीआई जांच में देंगे मदद

अखिलेश यादव
Image caption कानून व्यवस्था को लेकर अखिलेश सरकार को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कुंडा में जाकर कहा है कि पुलिस अधिकारी ज़िया उल हक समेत तीन लोगों की हत्या के मामले की पूरी तरह जांच की जाएगी जिसमें सभी बातें निकल कर सामने आएंगी.

मुख्यमंत्री कुंडा के वलीपुर गांव पहुंचे हैं जहां शनिवार को ग्राम प्रधान नन्हे यादव की हत्या के बाद हुई हिंसा में ग्राम प्रधान के भाई सुरेश यादव और पुलिस उपाधीक्षक ज़िया उल हक़ की मौत हो गई थी.

ग्राम प्रधान के परिवार और उनके समर्थक इस बात को लेकर धरना दे रहे थे कि उनके दो लोगों की हत्या के बावजूद सरकार उनकी उपेक्षा कर रही है. उनका यह भी आरोप है कि उन्हीं के परिवार के लोगों को अभियुक्त बनाया गया है.

सरकार पर दबाव

समझा जाता है कि समाजवादी पार्टी के स्थानीय नेताओं ने भी मुख्यमंत्री पर दबाव डाला कि ग्राम प्रधान के परिवार की उपेक्षा से गलत राजनीतिक संदेश जा रहा है और इससे समाजवादी पार्टी को राजनीतिक नुकसान हो सकता है.

अखिलेश यादव ने कहा, “सरकार जांच में पूरी तरह सहयोग करेगी. सीबीई जब जांच करेगी तो निष्पक्ष बातें सामने आएंगी.” उन्होंने कहा कि इस बारे में होने वाली जांच में हर मुमकिन मदद दी जाएगी.

अखिलेश ने विपक्ष के इन आरोपों को खारिज किया कि सरकार राज्य को संभाल नहीं पा रही है. उन्होंने कहा कि जो जिम्मेदारी सरकार की तरफ से निभाई जानी चाहिए, वो निभाई गई है.

पुलिस अधिकारी ज़िया उल हक़ के परिजन उनकी हत्या में कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को जिम्मेदार बता रहे हैं. अखिलेश सरकार में मंत्री रहे राजा भैया ने दबाव के बीच मंगलवार को पद छोड़ दिया था.

कार्रवाई का वादा

अखिलेश यादव ने कहा कि इस घटना पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का वादा किया.

अखिलेश के अनुसार जिया उल हक के परिवार ने सरकार से सुरक्षा मांगी है.

उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री आजम खान ने कहा, “विपक्ष हमारी आरती तो उतारेगा नहीं. हादसा तो हुआ है. अफसोसनाक हादसा है. लेकिन इस मामले में जितनी तेजी से और सख्त कार्रवाई हुई है, वो भी एक मिसाल है.”

आजम खान ने माना कि इस घटना के कारण समाजवादी पार्टी को नुकसान हुआ है.

संबंधित समाचार