लड़कियों पर फेंका तेज़ाब, चार ज़ख़्मी

Image caption भारत , पाकिस्तान, अफगानिस्तान जैसे देशों में सबसे ज़्यादा मामले देखने को मिलते हैं (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के एक गाँव में संदिग्ध युवकों नें एक ही परिवार की चार लड़कियों पर तेज़ाब फेंका है, जिसकी वजह से वो झुलस गयीं हैं और अस्पताल में भर्ती हैं.

घटना जिले के पुसौर इलाके की है और कहा जा रहा है कि ये लड़कियां शनिवार की देर रात रामायण पाठ से घर लौट रहीं थीं कि तभी अँधेरे में किसी नें इन पर तेज़ाब फ़ेंक दिया. ये सभी लड़कियां सगी बहनें हैं और 10 से 16 वर्ष की आयु की बतायी जाती हैं.

रायगढ़ के पुलिस अधीक्षक राहुल भगत नें बीबीसी को बताया कि इस मामले में कुछ लोगों को शक की बिना पर हिरासत में लेकर पूछ-ताछ की जा रही है. उनका कहना हैं: "अभी पता नहीं चल पाया कि हमलावर कौन हैं. लड़कियां भी कुछ सही तरीके से नहीं बता पा रहीं हैं क्योंकि काफी अँधेरा था और वो हमलावरों को देख नहीं पायीं."

पुलिस अधीक्षक ने ये भी बताया है कि हिरासत में लिए गए युवक भी उसी समाज के हैं जिस समाज की लड़कियां हैं.

लड़कियों को रायगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहाँ तीन की हालत ख़तरे से बाहर बतायी जाती है जबकि एक लड़की तेजाब से कुछ ज्यादा झुलस गयी है.

पुलिस को संदेह है कि आपसी रंजिश की वजह से इस घटना को अंजाम दिया गया हो सकता है. मगर अभी तक कोई ठोस सुबूत पुलिस के जांच अधिकारियों के हाथ नहीं लग पाए हैं. कहा जा रहा है कि जिन युवकों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछ ताछ कर रही है वो लड़कियों के परिवार वालों के संदेह के आधार पर है.

हालांकि पुलिस प्रेम प्रसंग के मामले से भी इनकार नहीं कर रही है.

संबंधित समाचार