भारत सरकार की हैकाथन प्रतियोगिता

Image caption इंटरनेट पर हैकिंग आम बात है लेकिन पहली बार भारत सरकार हैकाथन नाम से प्रतियोगिता करवा रही है

अगर आप हैकर हैं यानी आप खुद को कंप्यूटर का उस्ताद समझते हैं तो आपके लिए भी अब एक प्रतियोगिता हो रही है.

हैकरों के लिए ये प्रतियोगिता कोई और नहीं बल्कि सरकार ही आयोजित कर रही है जिसमें देश भर से कई लोगों के शामिल होने की संभावना है.

इस प्रतियोगिता में चुनौती होगी 12वीं पंचवर्षीय योजना को कैसे सॉफ्टवेयर के ज़रिए अलग अलग बेहतर तरीकों से पेश किया जाए.

भारत तो कंप्यूटर के जानकारों के देश के रुप में अपनी प्रतिष्ठा दुनिया भर में बना चुका है और शायद इसी प्रतिष्ठा को देखते हुए योजना आयोग और नेशनल इनोवेशन काउंसिल ने अप्रैल महीने में हैकाथन यानी हैकरों या कंप्यूटर के उस्तादों के लिए प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है.

यह प्रतियोगिता एक साथ 11 शहरों में आयोजित की जाएगी और इसमें चुनौती होगी लोगों के सामने कि वो 12वीं पंचवर्षीय योजना को कैसे पेश करते हैं इंटरनेट पर अपने सॉफ्टवेयर के ज़रिए.

इसमें सॉफ्टवेयर प्रोफेशनल्स के अलावा क्रिएटिव डिजाइनर, फिल्मकार, कोडिंग करने वाले हिस्सा ले सकते हैं.

वैसे मज़ेदार बात ये है कि हैकाथन के लिए रज़िस्ट्रेशन दोपहर दो बजे से शुरु हुआ था और उसके कुछ समय बाद ही वेबसाइट क्रैश कर गई.

हालांकि इनोवेशन काउंसिल के चेयरमैन सैम पित्रोदा ने कहा है कि इस गड़बड़ी को जल्दी ही ठीक कर लिया जाएगा.

सरकार का कहना है कि 12वीं पंचवर्षीय योजना में भारत के लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था और भारत की प्रगति का एक खाका खींचा था. अब चुनौती है कि इसे सॉफ्टवेयर के ज़रिए पेश किया जाए.