संजय दत्त को माफी की मांग पर बवाल

  • 22 मार्च 2013
संजय दत्त
Image caption मार्कंडे काट्यू के संजय दत्त को माफी की अपील की मांग करने पर सोशल मीडिया में नाराज़गी छाई है.

भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष जस्टिस मार्कण्डेय काटजू की उस अपील पर सोशल मीडिया में खासी प्रतिक्रिया हो रही है जिसमें काटजू ने महाराष्ट्र के गवर्नर को चिट्ठी लिख कर संजय दत्त को माफी देने की अपील की है.

बीबीसी हिंदी के सोशल मीडिया पन्ने पर आए पवन कुमार कहते हैं, ‘‘काटजू साहब को ऐसा बयान नही देना चाहीए. ऐसा होने पर कानून से साधारण आदमी का विश्वास उठ जावेगा.’’

संजय दत्त को सजा सुनाए जाने के बाद बॉलीवुड उनके समर्थन में आ गया था और कई लोगों ने उनके प्रति सहानुभूति जताई थी. लेकिन काटजू के पत्र पर कई तीखी प्रतिक्रिया काटजू के फेसबुक पन्ने पर भी आई है.

फेसबुक पर रमेश श्रीवत्स लिखते हैं. ‘‘काटजू ने मुन्नाभाई देखी, बोले संजय को माफी दो. उसके बाद उन्होंने खलनायक देखी तो बोले, शायद संजय को जेल होनी चाहिए. फिर उन्होंने अग्निपथ देखी तो बोले - इसे फांसी दी जाए.’’

मुन्ना की गांधीगिरी का वास्ता

जस्टिस काटजू ने महाराष्ट्र गवर्नर को लिखे अपने पत्र में कहा है कि चूंकि संजय दत्त ने मुन्नाभाई जैसी फिल्में कर के गांधी को लोकप्रिय किया है और सामाजिक कार्य भी इसलिए उन्हें माफी मिलनी चाहिए.

काटजू ने कमांडर नानावती का उदाहरण देते हुए गवर्नर को अपने विशेष अधिकार का उपयोग करने की अपील की है.

हालांकि उनकी यह अपील कई लोगों को नागवार गुजरी है.

बीबीसी हिंदी के फेसबुक पन्ने पर नवल जोशी लंबी टिप्पणी लिखते हुए कहते हैं, ‘‘सुप्रीम कोर्ट द्वारा संजय दत्त को सुनाई गयी सजा के खिलाफ काटजू साहब का इस तरह पत्र लिखना सिर्फ बौखलाहट है, अंहकार की चरम सीमा है.सत्ता में रहकर जो मदाधंता मन मस्तिष्क में छा जाती है यह उसका ही परिणाम है काटजू साहब लंबे समय तक न्यायाधीश रहे हैं उनकी इस मानसिकता से लगता है कि अपने कार्यकाल में उनका न्याय से कम ही वास्ता रहा होगा उनकी मर्जी अधिक निर्णायक रही होगी, इस बात की आशंका है.’’

हालांकि भवेश केवडिया जैसे लोगों की संख्या भी कम नहीं है जो कहते हैं कि संजय दत्त को माफी दी जानी चाहिए.

वैसे राजनीतिक हलकों में भी संजय दत्त पर प्रतिक्रिया आई है और समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने उनका बचाव किया है.

रामगोपाल यादव का कहना था कि संजय के ख़िलाफ़ कोई सबूत नहीं है और उन्हें माफी मिलनी चाहिए.

संजय दत्त को माफी मिलेगी या नहीं ये आने वाले समय में ही पता चलेगा लेकिन एक बात तय है कि जस्टिस काटजू ने एक बार फिर अपने बयान से विवाद पैदा कर ही दिया है.

संबंधित समाचार