मुंबई के निकट संदिग्ध नाव पकड़ी गई

कोस्टगार्ड
Image caption इस नाव पर से 27 बकरियाँ, आयातित सिगरेट, मोबाइल का सामान और टीवी भी बरामद किया गया

भारतीय कोस्टगॉर्ड ने मुंबई से करीब 12 किलोमीटर दूर ‘एमएसवी युसुफी’ नाम की एक नाव को पकड़ा है जिसके बारे में कहा जा रहा है कि इसमें काम करने वाले लोग अवैध सामान के लेन-देन में कथित तौर पर शामिल थे.

गौरतलब है कि 2008 हमले के बाद मुंबई की सुरक्षा में बढ़ोत्तरी के लिए कई कदम उठाए गए थे.

कोस्टगॉर्ड के मुताबिक ये नाव दुबई से मुंबई आ रही थी और इस पर पाँच भारतीय सवार थे.

जानकारी के मुताबिक इस नाव पर सवार लोग दुबई में किसी उस्मान नाम के व्यक्ति के साथ संपर्क में थे जिसके लिए कथित तौर पर अवैध सामान मुंबई लाया जा रहा था.

थुरैया फोन

कोस्टगार्ड के मुताबिक नाव पर सवार लोग दुबई और भारत में लोगों से संपर्क के लिए वर्जित थुरैया सैटेलाइट फोन का इस्तेमाल कर रहे थे जब उनकी बातचीत को भारतीय एजेंसियों ने सुना जिससे इनके काम को लेकर शक़ पैदा हुआ.

कोस्टगार्ड के अनुसार जैसे ही नाव पर सवार लोगों को कोस्टगार्ड का जहाज़ दिखा, उन्होंने थुरैया फोन पानी में फेंक दिया.

याद रहे कि मुंबई पर हुए पिछले हमलों में बारूद और हथियारों को लाने के लिए समुद्री रास्तों का इस्तेमाल किया गया था. मीडिया में भी ऐसे आरोप लगते रहे हैं कि मुंबई की समुद्री सुरक्षा में अभी भी कई खामियाँ हैं.

इस नाव पर से 27 बकरियाँ, आयातित सिगरेट, मोबाइल का सामान और टीवी भी बरामद किया गया. अभी इस मामले की जाँच चल रही है और अभी पूरी जानकारी साफ नहीं है.

इस मामले में पुलिस और दूसरी एजेंसियों की भी मदद ली जा रही है.

इस कार्रवाई को विभिन्न एजेंसियों के बीच सहयोग का एक उदाहरण माना जा रहा है जिस पर 2008 के मुंबई हमले के बाद कई सवाल उठे थे.

संबंधित समाचार