तृणमूल नेताओं पर हमला: बंगाल में प्रतिक्रिया

Image caption नई दिल्ली में बंगाल के वित्तमंत्री अमित मित्रा के साथ माकपा कार्यकर्ताओं ने धक्का-मुक्की की थी.

पश्चिम बंगाल की मुख्य विपक्षी पार्टी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने आरोप लगाया है कि राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उसके दफ्तरों पर हमला किया.

मंगलवार शाम माकपा और उसके छात्र संगठन एसएफआई के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का घेराव किया और राज्य के वित्तमंत्री अमित मित्रा के साथ नई दिल्ली स्थित योजना भवन के बाहर धक्का-मुक्की की थी.

इसके लिए ममता बनर्जी ने दिल्ली पुलिस की अव्यवस्था को जिम्मेदार ठहराया था.

इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस ने कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक़ तृणमूल कार्यकर्ताओं ने माकपा के हुगली, हावड़ा, बांकुरा, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, कूच बिहार और दार्जीलिंग स्थित दफ़्तरों पर हमले कर तोड़फोड़ की.

दफ़्तर बने निशाना

हावड़ा ज़िले के बगनान में माकपा के दफ़्तर में हुई तोड़फोड़ के दौरान घायल हुए पार्टी के एक विधायक और दो कार्यकर्ताओं को अस्पताल में दाखिल कराया गया है. ज़िले के उदयनरायणपुर, सलकिया और डोमजुर स्थित दफ्तरों में भी तोड़फोड़ की गई.

उत्तर 24 परगना ज़िले के बैरकपुर में माकपा के छह दफ़्तरों में तृणमूल कार्यकर्ताओं ने आग लगा दी और हुगली ज़िले के सेरामपुर में प्रदेश के पूर्व मंत्री और माकपा नेता सुदर्शन रायचौधरी की कार जला दी.

माकपा के मुताबिक़ दक्षिण 24 परगना ज़िले के बारीपुर में माकपा के बुजुर्ग नेता अब्दुर रज्जाक मुल्ला की कार पर बम से हमला किया गया.

राज्य के नादिया ज़िले के चकदाहा, क्ल्याणी, शांतिपुर, मोहनपुर, ग्यासपुर, मदनपुर, काटागंज, हारिनगाट और हंसाकाली में स्थित माकपा के दफ़्तरों में तोड़फोड़ की गई. पार्टी के ज़िला सचिव के मुताबिक़ इस हमले में उनके पांच कार्यकर्ता घायल हो गए. तृणमूल की ज़िला इकाई ने माकपा के इस आरोप का खंडन किया है.

हुगली ज़िले के हरिपाल, तारकेश्वर, पुरसुरा और चुनचौरा में भी माकपा के दफ्तरों पर हमला हुआ. बांकुरा ज़िले के एक माकपा नेता अमिय पात्रो ने बताया कि तृणमूल के क़रीब 30 हथियारबंद कार्यकर्ताओं ने उनके तालडांगरा दफ्तर पर हमला किया.

वीरभूम ज़िले के एक माकपा नेता बताया कि जुलूस के रूप में आए तृणमूल कार्यकर्ताओं ने उनके क्षेत्रिय कार्यालय पर हमला किया.

राज्य की मुख्यमंत्री और तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी मंगलवार को राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा के साथ नी दिल्ली में योजना आयोग भवन गई थीं. वे योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया से मिलने गई थीं.

पुलिस कार्रवाई

इस दौरान वहां माकपा के छात्र संगठन स्टुडेंट फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (एसएफआई) और पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ़ नारेबाजी की. इस दौरान उनकी अमित मित्रा के साथ धक्का-मुक्की भी हुई. इसमें मित्रा का कुर्ता फट गया.

माकपा और एसएफ़आई के ये कार्यकर्ता पिछले दिनों कोलकाता में हुई एसएफ़आई कार्यकर्ता सुदीप्तो गुप्त की मौत के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे.

इस घटना के बाद अमित मित्रा को पुलिस ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में दाखिल कराया गया. वहाँ उनके कुछ परीक्षण किए गए.

दिल्ली पुलिस ने इस घटना के बाद कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतयी दंड संहिता की धारा 353, 332, 147 और 186 के तहत ममला दर्ज किया है. लेकिन अभी इस मामले में किसी की गिरफ़्तारी नहीं हई है.

संबंधित समाचार