अदालत ने सहारा को लगाई फटकार

Image caption सुब्रत राय, सहारा प्रमुख

सोमवार को सहारा समूह को सुप्रीम कोर्ट से तगड़ा झटका लगा.

कोर्ट ने सहारा समूह और इसके प्रमुख सुब्रत राय को सेबी की ओर से दाखिल अवमानना याचिका का जवाब न देने पर फटकार लगाई.

कोर्ट ने निवेशकों के 24,000 करोड़ रुपये लौटाने के मामले में सहारा समूह के इलाहाबाद हाईकोर्ट और अन्य मंचों पर जाने पर भी ऐतराज़ जताया.

कोर्ट ने सहारा को कहा, “आप अदालतों के साथ चालबाज़ी कर रहे हैं.”

क्या है मामला

इसके साथ ही कोर्ट ने सेबी को कहा कि वह सहारा के अज्ञात निवेशकों का पैसा केंद्र के पास जमा करवाए.

सेबी के अनुसार सहारा की दो कंपनियों सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉर्प लिमिटेड (एसआईआरईसीएल) और सहारा हाउसिंग इनवेस्टमेंट कॉर्प लिमिटेड ने बॉंड जारी कर 6,380 और 19,400 करोड़ रुपये जुटाए.

सेबी का कहना है कि फंड जुटाने की इस प्रक्रिया में बहुत सी अनियमितताएं की गईं.

पिछले साल 31 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने सहारा को तीन करोड़ प्रतिभूति धारकों से जुटाए गए 24,000 करोड़ रुपये लौटाने का आदेश दिया था.

सेबी को निवेशकों की सत्यता की जांचने और पैसा लौटाने की प्रक्रिया की देखरेख को कहा गया था.

सहारा समूह का दावा है कि उसकी कुल देनदारी 5,120 करोड़ रुपये की है क्योंकि उसने अधिकतर निवेशकों को खुद पैसा लौटा दिया है.

संबंधित समाचार