लोगों की मदद से बलात्कार अभियुक्त गिरफ्तार

रेप मामला
Image caption फ़िरोज़ के पिता, भाई और सभी ग्रामीण भरी क्षोभ और ग़ुस्से में हैं.

मध्य प्रदेश के सिवनी ज़िले में चार साल की बच्ची से दुष्कर्म के अभियुक्त फ़िरोज़ खान को बिहार के भागलपुर में गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तारी के बाद फिरोज को बुधवार को स्थानीय अदालत में पेश किया गया.

भागलपुर के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने फ़िरोज़ को 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर मध्य प्रदेश पुलिस को सौंप दिया है. अभियुक्त को जबलपुर ले जाया जा रहा है.

यह गिरफ़्तारी तब संभव हुई जब फ़िरोज़ को गाँव वालों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस के अनुसार फिरोज भागलपुर के बबरगंज हुसैनाबाद इलाक़े में अपनी खाला (मौसी) के घर थे.

नगर पुलिस उपाधीक्षक वीणा कुमारी ने बीबीसी से कहा, ''फ़िरोज को पकड़वाने में गाँव वालों की तत्परता और सक्रिय सहयोग क़ाबिले तारीफ है.”

उपाधीक्षक वीणा ने आगे बताया, “ हमें पता चला कि फ़िरोज की मौसेरी बहन बबली ने ही फ़िरोज़ के छुपने की खबर पड़ोसियों को दी. उसके बाद पड़ोसियों ने यह बात पुलिस को बताई.”

आक्रोश

वीणा के अनुसार अधिकांश ग्रामीण काफी गुस्से में थे और अभियुक्त को वहीं सरेआम सज़ा देने पर उतारु थे.

फ़िरोज़ को पकड़वाने वाली बबली के साहस की ख़ूब सराहना हो रही है. छापेमारी के सिलसिले में आए मध्य प्रदेश की पुलिस टीम के सदस्यों की बिहार पुलिस ने काफी मदद की.

पिछले हफ्ते 17 अप्रैल को मध्य प्रदेश के सिवनी ज़िला अंतर्गत घनसौर इलाक़े में जिस बच्ची के साथ बलात्कार का मामला सामने आया था, वह अस्पताल में जीवन के लिए संघर्ष कर रही है.

अपनी पुलिस टीम के साथ भागलपुर पहुंचे सिवनी नगर पुलिस उपाधीक्षक प्रणय नागवंशी ने फ़िरोज़ को अपने क़ब्ज़े में ले लिया है.

बिहार के बांका ज़िले में अमर ढिबरा गाँव के रहने वाले 34 वर्षीय फ़िरोज़ के पिता, भाई और सभी ग्रामीण भरी क्षोभ और ग़ुस्से में हैं.

संबंधित समाचार