ममता ने दी ज़्यादा सिगरेट पीने की सलाह

  • 25 अप्रैल 2013
ममता बनर्जी
Image caption ममता बनर्जी ने निवेशकों के पैसे लौटाने के लिए कोष का गठन किया है

पश्चिम बंगाल की राजनीति इन दिनों एक चिट-फंड कंपनी को लेकर चल रहे विवाद से गरमाई हुई है. निवेशकों ने अपने करोड़ों रुपए गँवा दिए हैं.

शारदा ग्रुप नाम की इस कंपनी के राजनेताओं और पत्रकारों से रिश्ते को लेकर भी सवाल उठे हैं.

इन सबके बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने छोटे और मध्यम निवेशकों के पैसे लौटाने के लिए 500 करोड़ रुपए का एक कोष गठित किया है.

ममता बनर्जी का कहना है कि मामले की जाँच कर रहे आयोग की सिफ़ारिश पर इन निवेशकों को पैसे दिए जाएँगे.

लेकिन इस कोष में पैसा जमा करने के लिए उन्होंने सिगरेट पर 10 प्रतिशत का कर लगाने की घोषणा की है.

'ज़्यादा पिएँ सिगरेट'

कोलकाता में ममता बनर्जी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, "हम छोटे और मध्यम निवेशकों के लिए 500 करोड़ रुपए का राहत कोष गठित कर रहे हैं. ये उन लोगों की सहायता करेगा जो काफ़ी परेशानी में हैं. फंड में पैसे जुटाने के लिए हम सिगरेट पर 10 प्रतिशत टैक्स लगा रहे हैं. इससे क़रीब 150 करोड़ रुपए की उगाही होगी. बाक़ी की राशि हम अन्य स्रोतों से जुटाएँगे."

पत्रकारों से बातचीत के दौरान ममता बनर्जी ने यहाँ तक कह दिया कि इस कोष में ज़्यादा पैसा जुटाने के लिए लोग ज़्यादा सिगरेट पीएँ.

अपने सांसदों के चिट-फंड कंपनी शारदा ग्रुप से रिश्तों के बारे में उन्होंने कहा कि जाँच में अगर कोई दोषी पाया गया, तो उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी.

शारदा ग्रुप के मालिक सुदीप्त सेन को पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर से गिरफ़्तार किया गया था.

संबंधित समाचार