मुलायम ने कहा, चीन है दुश्मन नंबर वन

  • 29 अप्रैल 2013
लोकसभा
Image caption लोकसभा में कई सदस्यों ने मुलायम सिंह यादव का समर्थन किया.

लोकसभा सदस्यों ने कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में चीनी सेना की कथित घुसपैठ पर चिंता जताई है.

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के मुख्य सहयोगी दल समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने तो विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद के आगामी चीन दौरे पर ही सवाल उठा दिए.

उन्होंने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सरकार इस मामले में हाथ में हाथ धरे बैठी है.

साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार घुसपैठ की समस्या से निपटने में कायरों की तरह काम कर रही है.

सबसे बड़ा दुश्मन

चीन को सबसे बड़ा दुश्मन बताते हुए पूर्व रक्षा मंत्री ने शून्यकाल के दौरान कहा, “हम कब से चेतावनी दे रहे हैं कि चीन ने हमारे क्षेत्र पर कब्जा करना शुरू कर दिया है. लेकिन सरकार है कि सुनने को तैयार नहीं है.”

उन्होंने कहा कि भारतीय सेना कह चुकी है कि वो घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए तैयार है लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

उन्होंने कहा, “ये सरकार कायर, अक्षम और बेकार है.” साथ ही उन्होंने खुर्शीद के आगामी चीन दौरे के औचित्य पर ही सवाल उठाए. चीन के प्रधानमंत्री की अगले महीने होने वाली भारत यात्रा की तैयारियों के सिलसिले में खुर्शीद नौ मई को चीन जा रहे हैं.

कोल ब्लॉक आबंटन के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों के हंगामे के बीच मुलायम ने कहा कि उन्होंने इस मुद्दे को कई बार प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और रक्षा मंत्री एके एंटनी के समक्ष उठाया है लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ.

उन्होंने कहा, “मैं प्रधानमंत्री से बात करने के लिए उनके कक्ष में गया था. लेकिन इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई.”

कब्जा

मुलायम ने दावा किया कि चीन भारत के एक लाख वर्ग किलोमीटर भूभाग पर कब्जा कर चुका है और भारत सरकार कुछ नहीं कर रही है.

उन्होंने कहा, “जब सेना प्रमुख कह रहे हैं कि भारतीय सेना तैयार है, तो फिर सरकार आदेश क्यों नहीं दे रही है? उन्होंने 1962 में हमें बेइज्जत किया था. वो अब हमें दुनिया के सामने बेइज्जत कर रहे हैं.”

बीजू जनता दल के बी मेहताब और तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय ने भी मुलायम के सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को इस बारे में बयान देना चाहिए.

संबंधित समाचार