दिल्ली गैंगरेप कांड: अभियुक्त अस्पताल में भर्ती

Image caption छह में से एक अभियुक्त राम सिंह ने हाल में ही 'आत्महत्या' कर ली थी.

पिछले साल हुए दिल्ली सामूहिक बलात्कार के एक अभियु्क्त विनय शर्मा को तिहाड़ से बाहर राजधानी के एक बड़े सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

जयप्रकाश नारायण अस्पताल के डॉक्टर आरएस तोलिया ने बीबीसी को विनय शर्मा के वहां भर्ती होने की पुष्टि की है.

बीबीसी को अस्पताल सूत्रों से जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक़ विनय शर्मा को मंगलवार शाम अस्पताल के इमरजेंसी वॉर्ड में भर्ती कराया गया था. बाद में उनकी सर्जरी की गई और अब उनकी हालत ख़तरे से बाहर बताई जा रही है.

हालांकि अस्पताल ने आधिकारिक तौर पर उनकी हालत के बारे में कुछ कहने से ये कहते हुए मना कर दिया कि ये चिकित्सक और मरीज़ के बीच गोपनीयता का प्रश्न है और वो इसपर कुछ कहना नहीं पसंद करेंगे.

लेकिन समाचार एजेंसी एएफपी ने विनय शर्मा के वकील एपी सिंह के हवाले से कहा है कि उनके मुवक्किल को 'गंभीर हालत' में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हालाँकि अस्पताल ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

एपी सिंह ने बीबीसी को फोन बताया, "पहले उनका इलाज जेल के अस्पताल में किया गया, लेकिन उनकी हालत नहीं सुधरने पर उन्हें पहले दीनदयाल अस्पताल और फिर लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती करवाया गया है."

लेकिन तिहाड़ जेल के जनसंपर्क अधिकारी सुनील गुप्ता ने बीबीसी को बताया कि एपी सिंह के दावे ग़लत हैं. विनय शर्मा को तेज़ बुख़ार के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

आत्महत्या

इससे पहले इसी दिल्ली गैंगरेप मामले के ही एक अभियुक्त राम सिंह ने 'आत्महत्या' कर ली थी.

रिपोर्टों के अनुसार राम सिंह को सुबह के समय जेल में लटका पाया गया था जिसके बाद उनके शव को दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया गया था.

पिछले साल दिसंबर में हुए सामूहिक बलात्कार के मामले के वकीलों ने कई अभियुक्तों की सुरक्षा की बात कही थी.

16 दिसंबर को दिल्ली की एक चलती बस में 23 साल की पैरा-मेडिकल छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था. इसमें छात्रा बुरी तरह ज़ख्मी भी हुई थी और बाद में सिंगापुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

राम सिंह उसी बस का ड्राइवर था जिसमें ये दर्दऩाक हादसा हुआ था. राम सिंह के अलावा इस घटना में उसका भाई मुकेश और तीन अन्य लोगों के खिलाफ मामला चल रहा है.

इस घटना में क्लिक करें छठा आरोपी नाबालिग है और उसका मामला नाबालिगों के लिए बनी अदालत में चल रहा है.

संबंधित समाचार