संजय दत्त को येरवडा जेल भेजा गया

Image caption संजय दत्त को अवैध रूप से हथियार रखने का दोषी पाया गया था.

1993 में हुए बंबई बम धमाके से जुड़े एक मामले में जेल की सज़ा काट रहे अभिनेता संजय दत्त को आर्थर रोड जेल से येरवडा जेल भेज दिया गया है.

संजय दत्त को तड़के चार बजे आर्थर रोड जेल से निकाला गया और वह करीब साढ़े छह से सात बजे के बीच पुणे की येरवडा जेल पहुंच गए.

महाराष्ट्र की अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक (जेल) मीरा बोरवणकर ने इसकी पुष्टि की है.

53 साल के बॉलीवुड अभिनेता को आर्थर रोड जेल में डाल दिया गया था जिससे वह खुश नहीं थे. उनका कहना था कि वो जेल काफी छोटी है.

सुप्रीम कोर्ट ने 1993 के बम धमाकों से जुड़े मामले में संजय दत्त को पाँच साल की सज़ा सुनाई है. संजय दत्त को अवैध रूप से हथियार रखने का दोषी पाया गया था.

सुप्रीम कोर्ट का ताज़ा फ़ैसला आने के बाद संजय दत्त ने टाडा की विशेष अदालत से अपील की थी कि उन्हें पुणे की येरवडा जेल में समर्पण करने की अनुमति दी जाए.

संजय दत्त ने टाडा अदालत में समर्पण के बाद जज से अपील की थी कि उन्हें पंखा और इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट उपलब्ध कराया जाए. अदालत ने पंखे की मांग तो मान ली, लेकिन इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट की मांग को ठुकरा दिया.

ई-सिगरेट के लिए दत्त की गुजारिश पर जज ने उन्हें धूम्रपान छोड़ने की सलाह दी थी.

संजय दत्त इस मामले में डेढ़ साल की सज़ा पहले ही काट चुके हैं. उन्हें जेल में साढ़े तीन साल का समय और बिताना होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार