सियासत के हाथ में क्रिकेट की डोर

  • 25 मई 2013
  • कमेंट्स
बीसीसीआई के सदस्य इमेज कॉपीरइट BBC World Service

बोर्ड ऑफ़ कंट्रोल फ़ॉर क्रिकेट इन इंडिया यानी बीसीसीआई के फ़ैसलों पर क्रिकेटर कम राजनीतिक नेताओं की छत्रछाया ज़्यादा रही है.

बीसीसीआई को चलाने वाले और ख़ासकर अहम फ़ैसले लेने वाली कमेटियों, सब कमेटियों के ओहदेदारों में कम से कम 4 केंद्रीय मंत्री और एक राज्य के मुख्यमंत्री शामिल हैं.

बीसीसीआई के इन अहम पदों पर सत्ता पक्ष के साथ ही विपक्ष के लोग भी विराजमान हैं.

राजीव शुक्ला, अनुराग ठाकुर

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption बीसीसीआई पदाधिकारी राजीव शुक्ला और अनुराग ठाकुर

सबसे पहले नाम आता है राजीव शुक्ला का. राजीव शुक्ला संसदीय कार्य राज्यमंत्री हैं और इसके साथ ही वो आईपीएल के चीफ कमिश्नर भी हैं.

आईपीएल आजकल स्पॉट फ़िक्सिंग के विवादों में घिरा है. आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल कमेटी के चेयरमैन के अलावा राजीव शुक्ला मार्केटिंग सब कमेटी के सदस्य हैं.

इसके साथ ही वे सरकार की तरफ से दिल्ली और डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन में नामित किए गए हैं.

भाजपा सांसद और हिमाचल प्रदेश के पिछले मुख्यमंत्री प्रेमकुमार धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर भी बीसीसीआई में अहम पदों पर मौजूद हैं. वे बीसीसीआई के संयुक्त सचिव होने के अलावा जूनियर क्रिकेट कमेटी और अंपायर्स सब कमेटी के कन्वीनर भी हैं.

अनुराग ठाकुर विज़ी ट्रॉफी कमेटी के संयुक्त संयोजक और ऑल इंडिया जूनियर सेलेक्शन कमेटी के कन्वीनर हैं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया

इमेज कॉपीरइट PIB
Image caption ऊर्जा राज्य मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया बीसीसीआई की फाइनेंस कमेटी में चेयरमैन हैं. इसके अलावा वे आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के खिलाफ़ जांच कर रही अनुशासन समिति के सदस्य भी हैं.

इसके साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी हैं.

सीपी जोशी

इमेज कॉपीरइट PIB
Image caption केंद्रीय मंत्री सी पी जोशी बीसीसीआई के पदाधिकारी भी हैं

पूर्व रेल मंत्री पवन बंसल के इस्तीफे के बाद उनके मंत्रालय की अतिरिक्त जिम्मेदारी भी सीपी जोशी संभाल रहे हैं.

अपनी राजनीतिक भूमिका और जिम्मेदारी के साथ ही सीपी जोशी बीसीसीआई की मीडिया कमेटी के चेयरमैन तो हैं ही, राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के चेयरमैन की भूमिका भी निभा रहे हैं.

फ़ारुख़ अब्दुल्ला

Image caption फारुख़ अब्दुल्ला

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता फ़ारुख़ अब्दुल्ला केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं. इसके साथ ही वे बीसीसीआई के ओहदेदार की भूमिका भी निभा रहे हैं.

फ़ारुख़ अब्दुल्ला न्यू एंड रिन्यूएबल एनर्जी मंत्रालय का काम देखने के साथ ही बीसीसीआई की मार्केटिंग सब कमेटी के चेयरमैन भी हैं.

अरुण जेटली

इमेज कॉपीरइट PIB
Image caption अरुण जेटली बीसीसीआई की सबसे ज्यादा कमेटियों के सदस्य हैं

भाजपा में प्रधानमंत्री पद के दावेदारों में से एक राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली बीसीसीआई में शायद सबसे ज्यादा कमेटियों में मौजूद हैं.

बोर्ड के नॉर्थ ज़ोन के उपाध्यक्ष होने के अलावा अरुण जेटली दिल्ली और डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन और टुअर प्रोग्राम एंड फिक्सचर कमेटी के अध्यक्ष भी हैं.

जेटली बीसीसीआई की आईपीएल गवर्निंग काउंसिल कमेटी के अलावा लीगल कमेटी, कॉन्स्टीट्यूशन रिव्यू कमेटी, एफिलिएशन कमेटी, डिसिप्लिनेरी कमेटी के सदस्य भी हैं.

नवीन जिंदल

इमेज कॉपीरइट PIB
Image caption सांसद नवीन जिंदल भी बीसीआईआई में सरकार के नामित सदस्य हैं

सांसद नवीन जिंदल को सरकार की तरफ से बीसीसीआई में दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन में नामित किया गया है.

जिंदल इंडस्ट्रीज़ के मालिक नवीन जिंदल की बीसीसीआई में अहमियत मानी जाती है.

उनके अलावा आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री किरन कुमार रेड्डी भी क्रिकेट में दख़ल रखते हैं. वे फिलहाल हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं.

इन राजनीतिक हस्तियों के साथ ही पूर्व में मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के कई अध्यक्ष भी राजनीति से जुड़े रहे हैं.

इनमें महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी और विलासराव देशमुख और एनसीपी नेता शरद पवार शामिल हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहाँ क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)