पहली प्राथमिकता क्रिकेट की इज्ज़त: डालमिया

Image caption डालमिया का कहना है कि क्रिकेट की साफ़ छवि बनाए रखना पहली प्राथमिकता है

बीसीसीआई के रोज़मर्रा का कामकाज देखने के लिए नियुक्त जगमोहन डालमिया ने माना है कि स्पॉट फ़िक्सिंग विवाद से भारतीय क्रिकेट की छवि धूमिल हुई है.

उन्होंने कहा कि वह क्रिकेट की इज्ज़त बनाए रखने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.

डालमिया ने कहा कि जिस चीज़ की आज सबसे ज़्यादा ज़रूरत है वह है बदलाव.

बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के दामाद के आईपीएल स्पॉट फिस्किंग मामले में गिरफ़्तार होने के बाद रविवार को डालमिया को बीसीसीआई के रोज़मर्रा के फ़ैसलों की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है.

मुश्किल समय

सोमवार को एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए डालमिया ने कहा कि बीसीसीआई सचिव संजय जगदाले और कोषाध्यक्ष अजय शिर्के से इस्तीफ़ा वापस लेने के लिए बात की गई थी.

जगदाले ने अपना इस्तीफा वापस लेने से मना कर दिया जबकि शिर्के ने कोई जवाब नहीं दिया है. बोर्ड शिर्के के इस्तीफे पर कल तक इंतजार करेगा. बोर्ड सचिव की जगह पर नई नियुक्ति की जाएगी.

उल्लेखनीय है कि बीसीसीआई के सचिव जगदाले और कोषाध्यक्ष शिर्के ने स्पॉट फिक्सिंग विवाद में इस्तीफा दे दिया था.

पत्रकारों के सवाल के जवाब में डालमिया ने कहा कि उनके पास कोई जादू की छड़ी नहीं है और चीजों को ठीक होने में समय लगेगा.

एक पत्रकार के सवाल के जवाब में उन्होंने माना कि ताज़ा विवाद से भारतीय क्रिकेट की छवि धूमिल हुई है लेकिन कहा कि इसे बेहतर बनाने के लिए काम करना होगा.

उन्होंने कहा, “या तो आप फटे हुए दूध पर रोते रहिए या फिर आगे आइए और स्थिति को ठीक करने के लिए जो भी किया जा सकता है कीजिए.”

डालमिया ने कहा कि यह एक मुश्किल समय है लेकिन सभी लोग मिलकर इससे पार पा सकते हैं.

उन्होंने अपनी नई भूमिका को ‘कमबैक’ मानने से इनकार कर दिया और कहा कि वह मुश्किल समय में बीसीसीआई की मदद के लिए आए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार