आपदा पीड़ितों के लिए गूगल का 'पर्सन फाइंडर'

Image caption गूगल के एप्लीकेशन 'पर्सन फाइंडर' की मदद से लोगों को उम्मीद है कि वे अपने परिजनों से जल्द मिल सकेंगे.

इंटरनेट सर्च इंजन गूगल ने उत्तराखंड के बाढ़ प्रभावित इलाकों में लापता लोगों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने के लिए ‘पर्सन फाइंडर’ ऐप्लिकेशन की पेशकश की है.

गूगल का पर्सन फाइंडर वेब आधारित ऐप्लिकेशन है, जिसकी मदद से लोग अपने मित्रों और संबंधियों के गुम होने की जानकारी दे सकते हैं या उनके बारे में सर्च कर सकते हैं.

गूगल के वरिष्ठ उत्पाद प्रबंधक जयंत मैसूर ने बताया, “उत्तराखंड भारी बाढ़ से प्रभावित हुआ है चूंकि आपसी संवाद के नज़रिए से राज्य में ज्यादातर इलाके बेहद दुर्गम हैं, इसलिए गूगल आपदा दल आपके लिए पर्सन फाइंडर लाया है.”

गूगल पर्सन फाइंडर की सेवाओं के लिए यहां क्लिक करें.

हिन्दी में जानकारी

गूगल के इस ऐप्लिकेशन ने 2011 में जापान में आई सुनामी के दौरान लोगों को खोजने में काफी मदद की थी.

एक अनुमान के मुताबिक उत्तराखंड में आई इस आपदा में अब भी 50,000 से अधिक लोग विभिन्न इलाकों में फँसे हुए हैं.

सरकार ने पीड़ित लोगों की मदद या उनके संबंधियों को उनके बारे में जानकारी देने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं.

Image caption एक अनुमान के मुताबिक अभी भी करीब 50,000 लोग उत्तराखंड में अलग-अलग स्थानो पर फंसे हुए हैं.

गूगल की यह सेवा सरकारी इंतजामों के अलावा है. यह टूल हिन्दी और अंग्रेजी दोनों में उपलब्ध है.

गूगल पर्सन फाइंडर को भेजे गए आंकड़े कोई भी इंटरनेट के जरिए देख सकता है.

कैसे इस्तेमाल करें

कोई भी व्यक्ति सर्च बॉक्स में जाकर अपने परिचित व्यक्ति का नाम लिखकर उसे खोज सकता है.

इस टूल के जरिए संबंधित व्यक्ति का नाम, उसकी रूपरेखा, घर का पता और उसकी मौजूदा स्थिति के बारे में जाना जा सकता है.

यदि किसी का परिचित न मिल रहा हो तो वह उसकी गुमशुदगी की जानकारी पर्सन फाइंडर पर पोस्ट कर सकता है.

यह टूल प्रेस एजेंसियों, गैर-सरकारी संगठनों और अन्य लोगों को भी अपना डाटाबेस साझा करने का विकल्प देता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार