खाद्य सुरक्षा अध्यादेश क्यों?

भारत
Image caption इस अध्यादेश के तहत ग़रीबों को सस्ता अनाज देने का प्रावधान है

केंद्र की यूपीए सरकार ने खाद्य सुरक्षा पर अध्यादेश जारी किया है. इसके तहत ग़रीबों को सस्ता अनाज देने का प्रावधान है.

लेकिन मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी समेत कई पार्टियों ने इस अध्यादेश के समय पर सवाल उठाए हैं.

विपक्ष का ये भी कहना है कि जब कुछ ही दिनों में संसद का सत्र शुरू होने वाला है, तो इसे अध्यादेश के रूप में लाने की क्या आवश्यकता है.

सवाल बुनियादी सुविधाओं पर भी उठाए जा रहे हैं. दूसरी ओर केंद्र का कहना है कि सरकार जनता से किया अपना वादा पूरा कर रही है.

क्या मौजूदा हालत में खाद्य सुरक्षा पर अध्यादेश लाना ज़रूरी था? क्या अगले आम चुनाव को देखते हुए हड़बड़ी में ये अध्यादेश लाया गया है?

इस शनिवार 06 जुलाई को भारतीय समयानुसार शाम साढ़े सात बजे इसी विषय पर होगी बहस बीबीसी हिंदी रेडियो के कार्यक्रम बीबीसी इंडिया बोल में.

कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आप सीधे 1800-11-7000 और 1800-10-27001 पर मुफ़्त फ़ोन भी कर सकते हैं.

इस कार्यक्रम में शामिल होना अब हुआ और आसान.

अब आप बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक पन्ने पर जाकर अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं और कार्यक्रम में भी शामिल हो सकते हैं. अथवा अपना फ़ोन नंबर हमें ई-मेल के ज़रिए hindi.letters@bbc.co.uk या hindi.desk@bbc.co.uk पर भेज सकते हैं, ताकि हम आपसे संपर्क कर सकें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक पेज पर जाकर भी अपनी राय रख सकते हैं. साथ ही ट्विटर पर भी आप हमें फॉलो कर सकते हैं)