68 साल बाद दफ़नाऐ जाएंगे ब्रितानी सिपाही

अप्रैल 1945 में इस दल ने  भरी आखिरी उड़ान
Image caption अप्रैल 1945 में इस दल ने भरी आखिरी उड़ान

ब्रितानी रॉयल एयरफ़ोर्स के चार वायु सैनिक 68 साल बाद इटली में दफ़नाऐ जाएंगे. इन्हें इटली में सैनिक क़ब्रिस्तान में दफ़नाया जाएगा.

द्वितीय विश्वयुद्ध के आख़िरी दिनों में इन वायु सैनिकों ने उत्तरी इटली के फोर्ली से उड़ान भरी थी. ये दल कभी वापस लौट कर नहीं आ पाया.

ऐसा माना जा रहा था कि ये सैनिक युद्ध में जान गवाँ चुके होंगे. लेकिन कहाँ? ये कोई नहीं जानता था.

वर्ष 2011 में इनके अवशेष इटली के युवा पुरातत्व विशेषज्ञों के एक दल को फ़ेरेरा शहर में मिले. इन वायु सैनिकों में एक ऑस्ट्रेलियाई और तीन ब्रितानी हैं.

इन्हें सैन्य सम्मान के साथ दफ़नाया जाएगा.

पाड़ुआ के सैनिक क़ब्रिस्तान में इस अवसर पर इन वायु सैनिकों के परिजन भी मौजूद होंगे.

तीन ब्रितानी एक ऑस्ट्रेलियाई

विमान के चालक सार्जेंट डेविड राइक्स केवल 20 साल की उम्र में अपने अभियान की अगुवाई कर रहे थे. इस दल को "पो नदी" पर बने पुल पर बम गिराने थे.

फ्लाइट सार्जेंट डेविड मीलार्ड पर्किन्स नेविगेटर का काम कर रहे थे. फ्लाइट सार्जेंट एलेक्स्ज़ेंडर थामस बोस्टोक वायरलैस का संचालन कर रहे थे साथ ही वह एयर गनर भी थे. ये दोनों भी 20 साल के थे.

वारेंट ऑफिसर जॉन पेनबॉस हंट भी एयर गनर थे. इस दल में यही एकमात्र ऑस्ट्रेलियाई थे. इनकी उम्र 21 साल थी.

इनके विमान को इटली की नवोदित पुरातत्व विशेषज्ञों की संस्था "अर्केओलोजी डेल' एरिया" ने ढूँढा है। यह संस्था द्वितीय विश्वयुद्ध के विमानों के अवशेष खोजती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार