शिवराज की यात्रा में नरेन्द्र मोदी से परहेज

  • 22 जुलाई 2013
मध्यप्रदेश भाजपा

विधानसभा चुनाव के शंखनाद के लिए मध्‍यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा निकाली जा रही जन आर्शीवाद यात्रा में पार्टी के चुनाव प्रचार अभियान के मुखिया नरेन्‍द्र मोदी से पूरी तरह परहेज किया गया.

गुजरात के मुख्‍यमंत्री मोदी को न तो इस यात्रा के उद्घाटन समारोह का न्‍यौता दिया गया और न ही किसी पोस्‍टर या बैनर में उनके फ़ोटो के दर्शन हो पाए.

राज्‍य भाजपा द्वारा स्‍थानीय अखबारों में यात्रा के लिए जो बड़े बड़े विज्ञापन जारी किए गए उनमें भी भाजपा के प्रधानमंत्री पद के अघोषित उम्‍मीदवार का कहीं जिक्र नहीं है.

नरेंद्र मोदी: न उगलते बने, न निगलते

शिवराज की यात्रा सोमवार से शुरू हो रही है. पिछले दो विधानसभा चुनावों की तर्ज पर इस बार भी यात्रा का आगाज़ महाकाल की नगरी उज्‍जैन से किया गया.

52 दिन की इस यात्रा में शिवराज सिंह चौहान आठ हजार किलोमीटर चलकर सूबे की सभी 230 विधानसभा सीटों पर दस्‍तक देंगे.

इस यात्रा के लिए लिफ्ट की सुविधा वाला अत्‍याधुनिक रथ तैयार किया गया है. एक बस को रथ का रूप दिया गया है. लिफ्ट के जरिए शिवराज रथ की छत पर आएंगे और वहीं से लोगों को संबोधित करेंगे.

यह यात्रा 6 अक्‍टूबर को खत्‍म होगी. राज्‍य में विधानसभा के चुनाव नवम्‍बर के आख्रिरी हफ्ते में होने प्रस्‍तावित है.

कहीं भाजपा का भविष्य दांव पर पर तो नहीं?

मोदी गायब

मध्यप्रदेश चुनाव प्रचार में हर जगह शिवराज सिंह चौहान छाए हुए हैं.

पोस्‍टरों बैनरों समेत अखबारों में दिए गए विज्ञापनों तक मोदी कहीं नजर नहीं आते.

इन विज्ञापनों में अटल बिहारी वाजपेयी,लालकृष्‍ण आडवाणी, राजनाथसिंह, सुषमा स्‍वराज, अनंत कुमार, प्रदेश अध्‍यक्ष नरे्न्‍द्र सिंह तोमर और शिवराज सिंह चौहान के चित्र ही दिए गए हैं.

मध्‍यभारत क्षेत्र में यात्रा के मीडिया प्रभारी गोविंद मालू कहते हैं ‘नरेन्‍द्र मोदी से परहेज का सवाल ही पैदा नहीं होता. वे राष्‍ट्रीय नेता हैं और एक एक कार्यकता के दिल में निवास करते हैं.’

हालांकि मालू के पास भी इस सवाल का कोई जवाब नहीं था कि मोदी की फ़ोटो क्‍यों नहीं दिखाई पड़ रही. इसका जवाब कांग्रेस प्रवक्‍ता जे पी धनोपिया के पास जरूर मिला.

धनोपिया कहते हैं "दरअसल भाजपा में शिवराज के अलावा और भी कई नेता हैं जो मोदी के मुकाबले खुद को प्रधानमंत्री पद के ज्‍यादा योग्‍य मानते हैं."

यूं भी शिवराज सिंह चौहान, लालकृष्‍ण आडवाणी के ज्‍यादा निकट हैं. वे क्‍यों अपने राज्‍य में मोदी को बुलाकर अपना मार्केट खराब करेंगे.' हालांकि मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को स्‍पष्‍ट किया था कि मोदी समेत पार्टी के तमाम बडे नेताओं को यात्रा के समापन अवसर पर बुलाया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार