अब उर्दू में भी ट्वीट कर रहे हैं नरेंद्र मोदी

  • 2 अगस्त 2013

गुजरात के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी की चुनाव प्रचार समिति के चेयरमैन नरेंद्र मोदी की सोशल मीडिया ख़ासकर ट्विटर पर लोकप्रियता जग ज़ाहिर है.

अब इसी को भुनाते हुए नरेंद्र मोदी ने देश के लगभग सभी क्षेत्रीय भाषाओं में अपना ट्विटर अकाउंट शुरू किया है. इनमें उर्दू भी शामिल है.

मोदी क्यों करते हैं धार्मिक प्रतीकों का उल्लेख?

अंग्रेज़ी के अलावा हिंदी, उर्दू, कन्नड़, मराठी, मलयालम, उड़िया, तमिल, बांग्ला, गुजराती, हैदराबादी उर्दू, असमिया, तेलुगू, पंजाबी और संस्कृत में भी मोदी के ट्विटर अकाउंट बनाए गए हैं.

नरेंद्र मोदी ने उर्दू में ट्वीट भी किया है और समाचार लिखे जाने तक उनके उर्दू अकाउंट के 177 फॉलोअर भी हो चुके हैं.

उनके मराठी अकाउंट के 444 फ़ॉलोअर हो चुके हैं. लगता यही है कि नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में अपनी पहुँच बढ़ना चाहते हैं.

पहुँच

समाचार एजेंसी पीटीआई के साथ बातचीत में भाजपा के कम्युनिकेशन सेल के एक सदस्य ने बताया, "हम क्षेत्रीय भाषाओं के सहारे वहाँ के लोगों तक पहुँचने की कोशिश कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश में उर्दू भाषा का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या काफ़ी बड़ी है."

उन्होंने बताया कि अब मोदी के ट्वीट देश की सभी प्रमुख भाषाओं में उपलब्ध होगा. उनके ट्वीट्स एक साथ इन भाषाओं में उपलब्ध होंगे.

अपने कार्यक्रम और सभाओं में नरेंद्र मोदी सोशल मीडिया के इस्तेमाल और उसके प्रभाव का उल्लेख करते नज़र आए हैं. सोशल मीडिया पर उनकी लोकप्रियता भी काफ़ी है.

अंग्रेज़ी में नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट के 20 लाख से ज़्यादा फ़ॉलोअर हैं. उनकी वेबसाइट हिंदी के अलावा संस्कृत में भी है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार