ऐशेज़ श्रंखला पर इंग्लैंड का कब्ज़ा बरकरार

मेज़बान इंग्लैंड ने एक बार फिर से प्रतिद्वंदी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ होने वाली ऐशेज़ क्रिकेट श्रंखला अपने नाम कर ली है.

ओल्ड ट्रैफर्ड में खेला जा रहा श्रंखला का तीसरा टेस्ट मैच सोमवार को बिना किसी नतीजे के बाद ख़त्म हुआ.

बारिश के चलते मैच के अंतिम और पांचवे दिन सिर्फ़ 20.3 ओवर ही फेंके जा सके जिसमे जीत के लिए मिले 332 रनों का पीछा करते हुए मेज़बान टीम ने तीन विकेट के नुकसान पर 37 रन बनाए.

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी सात विकेट के नुकसान पर 172 रन बनाकर घोषित कर दी थी.

इंग्लैंड को पांच मैचों वाली इस श्रंखला जीतने के लिए तीसरा मैच महज़ ड्रा भर करने की ज़रुरत थी.

ट्रेंट ब्रिज और लॉर्ड्स में हुए पहले दो मैचों में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 14 और 347 रनों से शिकस्त दी थी.

ख़ुशी

मैच ड्रा होने के बाद इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक ने टीम की प्रशंसा की और बधाई भी दी.

उन्होंने कहा, "ये बहुत अजीब लेकिन बेहतरीन अनुभव का एहसास है. आज का दिन हमारे खिलाड़ियों के लिए मिला जुला रहा लेकिन हमने शुरूआती दो मैचों में अच्छा खेला और तीसरे में मौसम की थोड़ी मेहरबानी भी रही".

पुरस्कार वितरण समारोह में कुक ने कहा, "ये श्रंखला अच्छी रही है और ऐशेज़ श्रंखला बरकरार रखना बहुत बढ़िया है".

इस बीच ऑस्ट्रेलिया के कप्तान माइकल क्लार्क ने श्रंखला गंवाने पर निराशा ज़ाहिर की और कहा कि उनकी टीम ने श्रंखला में 0-2 से पिछड़ने की भारी कीमत चुकाई है.

उन्होंने कहा, "मैं इंग्लैंड की टीम से जीतने का श्रेय नहीं लेना चाहता. दो मैचों की बढ़त के बाद उनकी टीम का हक़ भी बनता था. श्रंखला में इस तरह पिछड़ने के बाद वापसी करना और वो भी इंग्लैंड के मैदानों पर बेहद कठिन है".

वैसे तीसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में एक बेहतरीन शतक जड़ने के चलते क्लार्क को मैन ऑफ द मैच पुरस्कार भी मिला.

अब ऑस्ट्रेलिया के पास सिर्फ श्रंखला को बराबर करने का मौका है क्योंकि दो टेस्ट मैच अभी होने बाकी हैं.

पिछली दो ऐशेज़ श्रंखलाओं पर भी इंग्लैंड का कब्ज़ा रहा है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार