......पर शिवराज ने पहन ली ईद पर टोपी

Image caption फिल्म अभिनेता रजा मुराद ने कहा है कि सबसे बड़ी जिम्मेदार कुर्सी पर बैठना है तो पूरी कौम को पूरे मुल्क को अपने साथ लेकर चलना होगा.

ईद के मौके पर फिल्म अभिनेता रज़ा मुराद ने कुछ ऐसे तीर छोड़े हैं, जो गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को शायद ज़रुर चुभे होंगे.

दरअसल मुराद ने किसी का नाम लिए बगैर नरेन्द्र मोदी को भोपाल में कार्यक्रम में टोपी पहनकर आए शिवराज सिंह चौहान से सबक सीखने की सलाह दी.

शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को भोपाल में ईद के मौके पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया था. मुसलमानों को बधाई देने के लिए वह खुद टोपी लगाकर आए थे. कार्यक्रम में बॉलीवुड अभिनेता रज़ा मुराद भी मौजूद थे.

कार्यक्रम के बाद रज़ा मुराद ने कहा, “यह प्लैटफॉर्म पॉलिटिकल बात करने का नहीं है, लेकिन बहुत से ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जिन्हें शिवराज चौहान जी से सबक लेना चाहिए कि टोपी पहनने से किसी के मज़हब पर कोई आँच नहीं आती है. किसी की खुशियों में शामिल होने से किसी का धर्म भ्रष्ट नहीं होता है.”

'किसी से कम नहीं शिवराज'

Image caption रजा मुराद ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ की है.

शिवराज सिंह चौहान की तारीफ़ करते हुए रज़ा मुराद ने कहा कि उनकी लोकप्रियता देश के किसी दूसरे मुख्यमंत्री के मुकाबले कम नहीं है.

अपनी बात को जारी रखते हुए उन्होंने कहा कि, “मैं किसी का नाम नहीं लूंगा. समझदार को इशारा ही काफी होता है. अगर आपको सबसे बड़ी जिम्मेदार कुर्सी पर बैठना है तो पूरी कौम को, पूरे मुल्क को अपने साथ लेकर चलना होगा. ”

रज़ा मुराद जब यह बयान दे रहे थे तो शिवराज सिंह चौहान उनके ठीक बगल में खड़े थे और उन्होंने रज़ा मुराद के इस बयान पर कोई भी टिप्पणी नहीं की.

ऐसे में भाजपा के भीतर एक बार फिर मोदी बनाम शिवराज विवाद को हवा मिल गई है.

रज़ा मुराद ने कहा, “शिवराज जी की लोकप्रियता किसी और मुख्यमंत्री से कम नहीं है. वह हर साल आते हैं मुसलमान भाइयों को ईद की मुबारकबाद देते हैं. टोपी पहनते हैं. टोपी पहनना बहुत अच्छी बात है, किसी को टोपी पहनाना बहुत बुरी बात है.”

मोदी की बधाई

Image caption गुजरात में 2002 में हुए दंगों के दाग नरेन्द्र मोदी का पीछा नहीं छोड़ रहे हैं.

वैसे नरेन्द्र मोदी ट्विटर पर ईद की बधाई दे चुके थे. मोदी ने ट्वीट किया, “ ईद मुबारक. हर देशवासी के लिए सुख,शांति और सद्भावना और अच्छी सेहत की कामना करता हूँ.”

गौरतलब है कि गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले मोदी के सद्भावना मिशन के दौरान जब मंच पर एक मौलवी ने उन्‍हें टोपी पहनने की पेशकश की थी तो गुजरात के मुख्यमंत्री ने इनकार कर दिया था.

उनके इस व्यवहार पर टिप्पणी करते हुई बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने कहा था कि, “इस देश में टोपी भी पहनना पड़ता है और टीका भी लगाना पड़ता है.”

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार