पूर्वनियोजित थी किश्तवाड़ की हिंसा: उमर

उमर अब्दुल्ला
Image caption मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि किश्तवाड़ में ईद के दिन हुई सांप्रदायिक हिंसा की घटना पूर्वनियोजित थी.

श्रीनगर में रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि हिंसा से एक दिन पहले ही इलाक़े में हथियारों की एक दुकान लूट ली गई थी. इससे लगता है कि हिंसा की घटनाएं पूर्वनियोजित थीं.

मुख्यमंत्री ने बताया कि स्थिति पर नियंत्रण लगाने के लिए किश्तवाड़ में सेना बुला ली गई है. सेना के आने के कुछ घंटे बाद ही इलाके में स्थिति नियंत्रण में आ गई.

इसे भी पढ़िए: भारत-पाक सीमा पर गोलीबारी, एक जवान ज़ख्मी

उन्होंने कहा कि राजनीतिक दल अपने चुनावी फ़ायदे के लिए राज्य में 2008जैसे हालात फिर पैदा करना चाहते हैं. हाल में किश्वतवाड़ में हुई हिंसा की घटनाएं लोगों की भावानाएँ भड़काने की कोशिश है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी नेता को किश्वतवाड़ जाने की इजाज़त नहीं दी जाएगी, कयोंकि नेता वहाँ राजनीतिक फायदे के लिए जाना चाहते हैं, मानवीय हित में नहीं.

रोके गए अरुण जेटली

इससे पहले किश्तवाड़ जाने के लिए नई दिल्ली से जम्मू पहुँचने भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली को हवाई अड्डे पर ही रोक लिया गया.

इस पर गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा,''विपक्ष के नेता को इस तरह रोका जाना दिखाता है कि सरकार यह नहीं चाहती है कि किश्चवाड़ का सच सामने आए.''

मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने बताया कि उन्होंने लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज से टेलीफोन पर बातचीत की है. उन्होंने बताया, ‘‘टेलीफोन पर उन्होंने पूछा कि मैं क्या कर सकती हूँ, इस पर मैने उनसे कहा कि वे अपने पार्टी के लोगों को इलाके में शांति बनाए रखने में सरकार की मदद करने को कहें.’’

उमर अब्दुल्लाह ने लोगों से अपील की कि वे शांति बनाए रखें और अफवाहों पर ध्यान न दें. उन्होंने कहा कि इस घटना की जाँच के लिए उन्होंने एक जाँच समिति बनाई है. उसकी जाँच पूरी हो जाने दीजिए. जांच में दोषी पाए जाने वाले लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने बताया कि हिंसा प्रभावित इलाक़े से एक और शव बरामद किया गया है. उसके मौत के कारणों की जाँच की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार