'राजेश खन्ना को देख' नम हुईं डिंपल और ट्विंकल की आंखें

राजेश खन्ना की प्रतिमा के साथ ट्विंकल खन्ना, डिंपल कपाड़िया और अक्षय कुमार

हिंदी फ़िल्मों के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना की प्रतिमा का अनावरण हाल ही में मुंबई किया गया.

इस अवसर पर उनकी पत्नी डिंपल कपाड़िया, ट्विंकल खन्ना, दामाद अक्षय कुमार और हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्रीज से जुड़ी कई हस्तियां आशा पारेख, हेमा मालिनी, जीनत अमान, जितेंद्र, अंदू महेंद्रू, रणधीर कपूर, ऋषि कपूर, जैकी श्राफ, पूनम सिन्हा, जोया और फरहान अख्तर भी मौजूद थे.

राजेश खन्ना की प्रतिमा देखकर और उसके पास खड़े होकर डिपल और ट्विंकल खन्ना की आँखें नम हो गईं.

अनावरण के अवसर पर मौजूद लोगों का आभार जताते हुए डिंपल ने कहा,''काका जी अपने आप में एक पहेली थे. वे अपने उसूलों के साथ जिए और मरे. हिंदी सिनेमा के लिए उनका योगदान अतुलनीय था. वो सही मायने में सुपरस्टार थे. उन्होंने साहस, हिम्मत और निडरता को मरते दम तक कायम रखा. वे आनंद और आनंद की तरह जिए.''

डिंपल ने कहा, ''मैं ख़ुद को भाग्यशाली मानती हूं कि उनकी पत्नी और उनके दो बच्चों की माँ हूँ.''

डिंपल की इच्छा

डिंपल ने कहा कि वे चाहती हैं कि राजेश खन्ना के नाम पर किसी सड़क का नामकरण किया जाए. उन्होंने सुझाव दिया कि मुंबई के बांद्रा स्थित कार्टर रोड, जहाँ राजेश खन्ना रहते थे, उस रोड का नाम बदलकर राजेश खन्ना रोड कर दिया जाए.

अक्षय कुमार ने कहा कि वे और उनका दस साल का बेटा आरव राजेश खन्ना को बहुत याद करते हैं. उन्होंने राजेश खन्ना पर लिखी अपने बेटे की दो लाइनें सुनाईं, ''नाना जी जब बहुत बीमार थे तो वो सबकुछ भूल चुके थे. लेकिन मैं याद था उनको, मुझे ये पता नहीं कि उन्हें क्या हुआ था और अब भी नहीं पता चला मुझे, बस इतना ही पता है कि वो बहुत महान थे और आज मेरे साथ हैं.''

अक्षय कुमार ने कहा, "यह केवल मेरे और मेरे परिवार के लिए ही नहीं, बल्कि सभी उनके चाहने वालों के लिए बहुत बड़ा लम्हा है क्योंकि उनकी प्रतिमा भी वहाँ लगाई जाएगी, जहाँ इससे पहले शम्मी कपूर, देवानंद, यश चोपड़ा और राजकपूर जी की लगी है."

पहला सुपरस्टार

यूं तो राजेश खन्ना ने फ़िल्मों में कई किरदार निभाए. लेकिन इस प्रतिमा में उन्हें फिल्म आनंद के किरदार में दिखाया गुब्बारे पकड़े हुए दिखाया गया है.

Image caption राजेश खन्ना की यह प्रतिमा फ़िल्म आनंद के उनके किरदार पर आधारित है

इस अवसर पर अभिनेता जितेंद्र ने कहा, "मैने और राजेश खन्ना ने एक साथ काम करना शुरू किया था. संघर्ष के समय हम साथ रहे. फ़िल्मों में काम मुझे पहले मिला. लेकिन वे मेरी जिंदगी के सबसे बड़े सहायक थे."

जितेंद्र ने बताया, "राजेश खन्ना का असली नाम जतिन खन्ना था और मेरा नाम रवि कपूर था. लेकिन कॉमेडियन रविंदा कपूर की वजह से मैने अपना नाम जितेंद्र कपूर (जेके) और उन्होंने अपना नाम बदलकर राजेश खन्ना (आरके) कर लिया. और देखते ही देखते वे हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के सुपरस्टार बन गए."

अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने कहा, "हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के एक ही सुपरस्टार हैं, वो हैं राजेश खन्ना, बाकी हम सब कलाकार सुपरस्टार की दौड़ में दूर तक नज़र नहीं आते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार