पनडुब्बी धमाके में नौसैनिकों की मौत की आशंका

मुंबई में भारतीय नौसेना की पनडुब्बी सिंधुरक्षक में हुए धमाकेके दौरान उसमें 18 नौसैनिक मौजूद थे.

केंद्रीय रक्षा मंत्री एके एंटनी ने कुछ नौसैनिकों के मारे जाने की आशंका जताई है. हालांकि उन्होंने इससे ज़्यादा कुछ भी नहीं बताया है.

पढ़िएः आसान नहीं रही पनडुब्बी की राह

एंटनी ने घटनास्थल का दौरा किया और पनडुब्बी में फंसे लोगों के परिवार के प्रति संवेदना और एकजुटता जताई.

प्रेस कांफ्रेंस में एंटनी के साथ मौजूदा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार संकट की इस घड़ी में हर संभव मदद के लिए तैयार है.

पढ़िएः सिंधुरक्षक की मरम्मत ठीक से हुई थी

जोरदार धमाका

स्थानीय मीडिया में एक पनडुब्बी में हुए धमाके का एक वीडियो भी दिखाया जा रहा है. माना जा रहा है कि ये वीडियो धमाके से दूर खड़े किसी शख़्स ने बनाया होगा.

इस वीडियो में पनडुब्बी में धमाके के बाद आसमान में ऊंची आग की लपटें उठती दिख रही हैं. नौसेना प्रमुख एडमिरल डीके जोशी ने बताया कि आग पर नियंत्रण पाने में दो घंटे लगे.

उन्होंने कहा कि चूंकि घटना को लगभग बारह घंटे हो चुके हैं. इसीलिए पनडुब्बी में फंसे लोगों के सुरक्षित होने की उम्मीद ही की जा सकती है. उनसे किसी तरह का कोई संपर्क नहीं हो पाया है.

उन्होंने कहा, "हम अच्छे की उम्मीद करते हैं, लेकिन हमें बुरे के लिए भी तैयार रहना होगा."

उन्होंने कहा कि आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है. जोशी के अनुसार पनडुब्बी पर विस्फोट और ईंधन रखे थे, ऐसे में किसी भी तरह की गड़बड़ी से आग लग सकती है.

हालांकि उन्होंने कहा कि पनडुब्बी में पुख्ता निगरानी व्यवस्था होती है. जोशी के अनुसार इस दुर्घटना की विस्तार से जांच की जाए.

उधर, एक नौसेना अधिकारी ने बीबीसी को बताया है कि इस तरह के धमाके में किसी के बचने की संभावना बेहद कम है.

हालांकि नौसेना के अधिकारियों ने बताया है कि धमाके के बाद कुछ नौ सैनिक समुद्र में कूद गए.

कारणों की जांच

नौसेना के प्रवक्ता नरेंद्र विस्पुट ने बताया है कि धमाके के कारणों की जांच की जा रही है.

बीबीसी को मिली जानकारी के मुताबिक जांच में इस पहलू का भी ध्यान रखा जाएगा कि ये धमाका आंतरिक गड़बड़ी के चलते हुआ या फिर इसकी कोई दूसरी वजह है.

मुंबई से बीबीसी संवाददाता मधु पाल का कहना है कि धमाके के बाद पनडुब्बी डूबने लगी. इसके साथ खड़ी एक अन्य पनडुब्बी आईएनएस सिंधुरत्न को भी मामूली नुकसान पहुंचा है.

इस घटना में कई नौसैनिक घायल भी हो गए जिन्हें कोलाबा स्थित नौसैनिक अस्पताल आईएनएचएस अश्विनी ले जाया गया है.

रूस निर्मित 16 साल पुरानी सिंधुघोष क्लास की इस पनडुब्बी को हाल ही में उन्नत बनाया गया था.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार