रुपया तो गिरा, आपका क्या होगा?

  • 21 अगस्त 2013
रुपया

रुपए की कीमत में लगातार आ रही गिरावट का आम आदमी पर गहरा असर पड़ने वाला है.

रिज़र्व बैंक कुछ करने की हालत में नहीं है और रुपया ऐसे चक्र में फंस गया है कि इससे निकलना मुश्किल है.

सबसे बड़ा सवाल ये है कि रुपए में आई ये गिरावट आप पर कैसे असर डालेगी?

'महंगाई और बढ़ेगी'

सबसे पहली बात ये कि किराने का बिल बढ़ जाएगा. ये मान कर चलिए कि तेल के दाम बढ़ेंगे और फिर माल भाड़ा बढ़ेगा.

सरकार के पास दाम बढ़ाने के अलावा कोई चारा नहीं है.

इसका हर चीज़ पर असर पड़ेगा. किराने का बिल बढ़ेगा और सब्ज़ियां भी महंगी होंगी.

विदेशों से जितनी चीज़ें आ रही हैं वो महंगी होंगी.

'विदेशों में छुट्टियां और पढ़ाई भी महंगी'

आप कभी छुट्टी मनाने देश से बाहर जाते हैं या आपके बच्चे विदेश पढ़ने जा रहे हैं या पढ़ रहे हैं तो इस पर असर पड़ेगा

क्योंकि आपको ज़्यादा रुपए चुकाने होंगे.

यानी विदेशों में पढ़ाई और सैर-सपाटा महंगा हो जाएगा.

ये पहले ही 20 फीसदी महंगा हो चुका है.

'नौकरियों पर तलवार'

मुझे लगता है कि नौकरियों पर तलवार लटकी रहेगी.

हालांकि आईटी सेक्टर को रुपए में आई गिरावट का फ़ायदा मिलेगा.

आईटी कंपनियों को डॉलर में बिल पेश करने पर ज़्यादा रुपए मिलेंगे लेकिन बाकी जो गिरावट है उसका असर हमारी अर्थव्यवस्था पर होगा.

हमने पिछले साल देखा है कि हमारी अर्थव्यवस्था में जो बढ़ोतरी हुई उससे मामूली नौकरियां पैदा हुईं.

इसलिए मुझे लगता है कि अर्थव्यवस्था में मामूली सी गिरावट से भी लोगों की नौकरी पर तलवार लटकी रहेगी.

तनख्वाह में बढ़ोतरी को तो भूल जाना चाहिए.

'कर्ज़ की किस्त कम नहीं'

अर्थव्यवस्था में आई कमज़ोरी का असर ब्याज दरों पर पड़ा है.

रुपए के कमज़ोर होने, ब्याज दरों के बढ़ने और महंगाई बढ़ने का असर कर्ज़ की किस्तों पर होगा.

लोग उम्मीद लगाकर बैठे थे कि कर्ज़ की किस्तें कम होंगी लेकिन कम होने के बजाय ये और बढ़ गई हैं.

(बीबीसी संवाददाता अनुराग शर्मा की बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार