भारतीय बाज़ार में सैमसंग ने नोकिया को पछाड़ा

सैमसंग
Image caption सैमसंग ने पहली बार भारतीय बाज़ार में नोकिया को पछाड़ा है.

दक्षिण कोरियाई कंपनी सैमसंग ने भारतीय मोबाइल हैंडसेट बाज़ार में नोकिया के एक दशक से चले आ रहे दबदबे को ख़त्म कर दिया है.

वॉइस एंड डेटा के 18वें सालाना सर्वेक्षण के मुताबिक़ बीते वित्त वर्ष सैमसंग की भारतीय मोबाइल बाज़ार में हिस्सेदारी बढ़कर 31.5 प्रतिशत पहुंच गई जबकि फिनलैंड की कंपनी नोकिया 27.2 प्रतिशत के साथ दूसरे स्थान पर फिसल गई.

वित्त वर्ष 2012-13 के दौरान सैमसंग का राजस्व 11328 करोड़ रहा जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 43.6 प्रतिशत अधिक है.

नोकिया के राजस्व में 18 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है. कंपनी का राजस्व वित्त वर्ष 2011-12 में 11925 करोड़ था जो 2012-13 में 9780 करोड़ रुपए रह गया.

ऐपल

भारतीय कंपनी माइक्रोमैक्स तीसरे और कार्बन मोबाइल्स चौथे स्थान पर है.

अमरीकी कंपनी ऐपल पहली बार भारतीय मोबाइल हैंडसेट बाज़ार में शीर्ष दस कंपनियों में शामिल हो गई है. उसका राजस्व 417.2 प्रतिशत बढ़कर 1293 करोड़ पहुंच गया.

नोकिया की लूमिया सिरीज़ के फ़ोन भारतीय उपभोक्ताओं को रिझाने में नाकाम रहे जिसकी वजह से भारतीय बाज़ार में उसकी हिस्सेदारी कम हो गई.

स्मार्टफ़ोन की भारी मांग के चलते बीते वित्त वर्ष में देश का मोबाइल हैंडसेट बाज़ार 14.7 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 35,946 करोड़ रुपए पहुंच गया. इससे पिछले साल यानि 2011-12 में यह 31,330 करोड़ था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड मोबाइल ऐप के लिए क्लिक करें ? आप हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार