झारखंड: महिला पुलिसकर्मी से सामूहिक बलात्कार

बलात्कार
Image caption झारखंड में एक महिला पुलिसकर्मी के साथ हुए बलात्कार पर बहुत कम लोगों का ध्यान गया है.

मुंबई में महिला पत्रकार के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना पर पूरे देश में उबाल है. धरना-प्रदर्शन का दौर जारी है और लोगों का गुस्सा पुलिस और प्रशासन के प्रति ही ज़्यादा है. लेकिन झारखंड में एक महिला पुलिसकर्मी ही कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार का शिकार हो गई है. हालांकि आदिवासी पुलिसकर्मी के साथ बलात्कार की ये वारदात महज मीडिया की सुर्खियां बन कर रह गई है.

झारखंड पुलिस का कहना है कि उसने घटना को गंभीरता से लिया है और पूछताछ के लिये पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है. साथ ही जांच के लिये एक विशेष टीम गठित की गई है.

पीड़िता लातेहार पुलिस लाइन में पोस्टेड हैं. पुलिस के मुताबिक गुरुवार रात जब वह अपने बहनोई का शव लेकर रांची से गढ़वा जा रही थीं तो रांची से करीब 110 किलोमीटर दूर राष्ट्रीय राजमार्ग 75 पर जगलदगा पुल के समीप लुटेरों ने उनके साथ बलात्कार किया.

पीड़िता के पति भी पुलिसकर्मी थे जिनकी दो साल पहले नक्सलियों के हमले में मौत हो गई थी. ये घटना 2011 में पलामू के गारू में चतरा में हुई थी जब झारखंड विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और सांसद इंदर सिंह नामधारी के काफिले पर नक्सलियों ने हमला किया था.

घटना में पीड़िता के पति समेत 11 पुलिसकर्मी मारे गए थे. पति की मौत के बाद पत्नी को पुलिस सेवा में नौकरी दे दी गई थी.

जाँच जारी

Image caption एडीजी, कानून व्यवस्था, एसएन प्रधान के मुताबिक घटना की जांच के लिए विशेष टीम गठित की गई है.

झारखंड के एडीजी, कानून व्यवस्था, एसएन प्रधान के मुताबिक घटना की जांच के लिए एक विशेष टीम गठित की गई है और फिलहाल हिरासत में लिए गए पांचों लोगों से पूछताछ जारी है. पलामू के डीआईजी आरके धान ने भी घटनास्थल का दौरा किया है.

इस बीच लातेहार के पुलिस अधीक्षक माइकल राज ने बताया है कि पीड़िता के बयान पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है और उनका मेडिकल चेकअप भी कराया गया है. जांच रिपोर्ट के शाम तक मिल जाने की उम्मीद है.

पुलिस ने भरोसा दिलाया है कि संदिग्धों को शीघ्र ही पकड़ लिया जाएगा.

महिला कार्यकर्ता सरोजनी बिष्ट के अनुसार झारखंड में महिला अत्याचार के सनसनीखेज मामले प्रकाश में आ रहे हैं और वो ऐसी घटनाओं पर विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और टि्वटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार