बलात्कार का आरोप: पुलिस ने थमाया आसाराम बापू को समन

जोधपुर पुलिस ने एक नाबालिग लड़की के साथ कथित यौन दुर्व्यवहार और बलात्कार के मामले में धार्मिक गुरु आसाराम बापू को अहमदाबाद जाकर समन सौंप दिया है.

स्थानीय पत्रकार अंकुर जैन के मुताबिक़ जोधपुर के पुलिस आयुक्त बीजू जॉर्ज जोजफ ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि आसाराम को अहमदाबाद के मोटेरा स्थित उनके आश्रम में यह समन सौंपा.

उन्हें 30 अगस्त तक पूछताछ के लिए पुलिस के समक्ष पेश होकर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया है.

जोधपुर पुलिस की एक टीम ने आसाराम को समन सौंपा. इस दौरान उनके आश्रम के आसपास स्थानीय पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी.

लेकिन आसाराम के आश्रम के प्रवक्ता मनीष बागड़िया ने इस बात से इनकार किया है कि आसाराम को कोई समन दिया गया है.

मामला

इससे पहले जोधपुर पुलिस ने दावा किया था कि उसे आसाराम बापू के छिंडवाड़ा गुरुकुल से अहम सबूत मिले हैं जिनकी पड़ताल की जा रही है. नाबालिग लड़की इसी गुरुकुल में पढ़ती थी.

जोधपुर पुलिस ने बुधवार को आसाराम के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

लड़की ने दिल्ली पुलिस के पास शिकायत दर्ज की थी कि आसाराम ने 15 अगस्त के दिन जोधपुर के निकट मनाई गांव में उसके साथ बलात्कार किया था.

रिपोर्टों के मुताबिक़ लड़की का दावा है कि आसाराम ने प्रार्थना के बाद उसे रुकने के लिए कहा और फिर उसके साथ बलात्कार किया. इस दौरान उसकी मां कमरे के बाहर इंतजार कर रही थी.

पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि लड़की और उसके माता पिता आसाराम के साथ 14 और 15 अगस्त तक शिविर में मौजूद थे. आसाराम 16 अगस्त को जोधपुर आश्रम से गए थे.

चूंकि यह अपराध जोधपुर में हुआ था, इसलिए दिल्ली पुलिस ने आगे की कार्रवाई के लिए इसे जोधपुर भेज दिया था.

इनकार

हालांकि आसाराम की प्रवक्ता ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा है कि इनका मकसद धार्मिक गुरु की छवि को खराब करना है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ पीड़िता ने बताया कि धार्मिक गुरु ने उसे खमोश रहने और किसी से कुछ नहीं कहने के लिए कहा था.

उसने यह भी बताया कि आसाराम ने उसे धमकी भी दी कि अगर उसने इस घटना के बारे में किसी को बताया तो मध्य प्रदेश स्थित बापू के आश्रम में पढ़ने वाले उसके भाई को मार दिया जाएगा.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार आसाराम ने जोधपुर में लड़की से मिलने की बात स्वीकार की है लेकिन आरोपों से इनकार किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार