सिंधुरक्षक से मिले 11 शवों का डीएनए परीक्षण

मुंबई तट पर दुर्घटनाग्रस्त हुई भारतीय नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस सिंधुरक्षक से अभी तक बरामद हुए 11 शवों का डीएनए नमूना परीक्षण के लिए भेजा जा चुका है.

मुंबई के जेजे अस्पताल के डीन डीपी लहाने ने बीबीसी संवाददाता मधु पाल को यह जानकारी दी है.

लहाने ने बताया कि शवों को फोरेंसिक जांच के लिए मुंबई के कलीना स्थित फोरेंसिक प्रयोगशाला भेजा गया है, हालाँकि जाँच के नतीजे कब तक आएँगे ये अभी साफ़ नहीं है.

हादसे के वक्त पनडुब्बी में 18 नौसैनिक थे जिनमें से अभी तक 11 के शव बरामद हुए हैं. इनमें से अभी तक किसी की शिनाख्त नहीं हुई है.

राहतकर्मियों को पन्डुब्बी के भीतर जाने में बहुत मुश्किलें आई थीं.

दुर्घटना

रूस में बनी सिंधुरक्षक में 14 अगस्त को तड़के मुंबई गोदी में आग लग गई थी.

नौसेना ने लापता अधिकारियों और सैनिकों के नामों की सूची जारी की थी.

अधिकारियों में लेफ़्टिनेंट कोमोडोर निखिलेश पाल, लेफ़्टिनेंट कोमोडोर आलोक कुमार और लेफ़्टिनेंट कोमोडोर आर वेंकटराज शामिल थे.

सैनिकों में संजीव कुमार, केसी उपाध्याय, टिमोथी सिन्हा, केवल सिंह, सुनील कुमार, दसारी प्रसाद, लीजू लारेंस, राजेश टूटिका, अमित के सिंह, अतुल शर्मा, विकास ई, नरोत्तम देउरी, मलय हलदर, विष्णु वी और सीताराम बडापल्ली हादसे के समय पनडुब्बी में थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार