डॉलर के मुक़ाबले रुपया हुआ कुछ मज़बूत

रुपया

डॉलर के मुकाबले पिछले कुछ दिन से गोते लगा रहा रुपया गुरुवार को अंतर बैंक मुद्रा बाज़ार के शुरुआती कारोबार में 170 पैसे मज़बूत हुआ.

समचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक मुंबई के अंतर-बैंक विदेशी विनिमय बाज़ार में डॉलर की कीमत 67.10 रुपए हो गई.

रिजर्व बैंक की ओर से रुपए की सेहत सुधारने के लिए की गई कोशिशों से निर्यातकों और बैंकों ने डॉलर की बिकवाली की.

आरबीआई की कोशिश

विदेशी मुद्रा के कारोबारियों का कहना है कि निर्यातकों और बैंकों की ओर से डॉलर की बिक्री के अलावा गिरते रुपए को संभालने में आरबीआई की ओर से उठाए गए क़दमों, अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में तेल की गिरती कीमतों ने भी मदद की.

उनका कहना है कि शेयर बाज़ार में आए उछाल ने भी इसमें सहयोग किया.

आरबीआई ने रुपए की गिरती कीमत को थामने के लिए तीन सरकारी तेल कंपनियों के लिए एक विशेष काउंटर खोलने का फैसला किया है जिन्हें अपनी रोज़मर्रा की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए हर महीने क़रीब साढ़े आठ अरब अमरीकी डॉलर की ज़रूरत होती है.

तेल की कीमतें बढ़ने के साथ ही रुपए में बुधवार को 256 पैसे की गिरावट दर्ज की गई थी. इसके बाद रुपया डॉलर के मुक़ाबले 68.80 के स्तर पर पहुँच गया था.

प्रधानमंत्री का बयान

यह रुपए में एक दिन में आई अब तक की सबसे बड़ी गिरावट थी.

मुंबई शेयर बाज़ार (बीएसई) में भी गुरुवार को तेज़ी देखी गई. दोपहर 12 बजे 30 शेयरों पर आधारित बीएसई का सूचकांक 267.21 अंक या 1.48 फ़ीसदी बढ़कर 18262 अंक पर था.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ इस बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राज्यसभा में कहा कि वे रुपए की गिरती क़ीमत पर शुक्रवार को बयान देंगे.

उनसे विपक्ष ने जानना चाहा था कि सरकार रुपए की गिरती कीमत को संभालने के लिए क्या कर रही है.

उन्होंने कहा कि वे इस बात से इनकार नहीं कर सकते कि देश कठिन परिस्थितियों का सामना कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार