कश्मीर: मुठभेड़ में पांच चरमपंथियों की मौत

  • 30 अगस्त 2013

सेना और पुलिस अधिकारियों का कहना है कि भारत प्रशासित कश्मीर में शुक्रवार को हुई गोलीबारी में कम से कम पांच सशस्त्र चरमपंथी मारे गए हैं. ये मुठभेड़ राज्य के गांदरबल ज़िले में हुई.

इलाके के शीर्ष पुलिस अधिकारी शाहिद मेहराज ने बीबीसी को बताया, "गांदरबल ज़िले में नज़वान के जंगलों में पुलिस और सेना का संयुक्त अभियान जारी था. चरमपंथियों के एक समूह ने गश्त लगा रहे सुरक्षाकर्मियों पर गोलीबारी की. जवाबी कार्रवाई में हमने पांच चरमपंथियों को मार गिराया जिनमें मोस्ट वॉन्टेड चरमपंथी नेता असदुल्ला भी शामिल है."

हालांकि सैन्य बलों के ऐसे दावों पर अक्सर मानवाधिकार समूह सवाल उठाते रहे है. आधिकारिक जांच के नतीजों के आधार पर वो उन घटनाओं का उदाहरण देते हैं जब पुलिस और सेना ने पदोन्नति और नकद इनाम के लिए निर्दोष नागरिकों को अगवा किया और फर्ज़ी मुठभेड़ में मार दिया.

श्रीनगर में सीआरपीएफ़ कैंप पर चरमपंथी हमला

हिंसा बढ़ी

पाकिस्तान आधारित शीर्ष चरमपंथी नेता सैय्यद सलाहुद्दीन की कश्मीर में मुजाहिदीनों के व्यापक आंदोलन की धमकी के बाद सेना और पुलिस का ये पहला अभियान है.

सैन्य अधिकारियों का कहना है कि दसियों हज़ार सशस्त्र चरमपंथी ठंड शुरू होने से पहले भारतीय सीमा में प्रवेश करने के लिए खुद को तैयार कर रहे हैं क्योंकि कड़ाके की ठंड और बर्फ़बारी की वजह से भारतीय सीमा में घुसपैठ मुश्किल हो जाती है.

पिछले कुछ वर्षों में कश्मीर में चरमपंथी हिंसा में कमी आई थी लेकिन कश्मीरी चरमपंथी अफ़ज़ल गुरु को संसद पर हमले का षड्यंत्र रचने के आरोप में फांसी दिए जाने के बाद राज्य में हिंसा की घटनाएं नए शुरू हो गई हैं.

भारत और पाकिस्तान दोनों ही मुल्क एक-दूसरे पर दशक पुरानी युद्ध विराम संधि का उल्लंघन कर नियंत्रण रेखा पर हिंसा का आरोप लगा लगा रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार