45 साल बाद मिला भारतीय सैनिक का शव

एंतोनोव-12
Image caption 1968 में रूस में बना विमान एंतोनोव-12 दुर्घटनाग्रस्त हो गया था

हिमालय क्षेत्र में 45 साल पहले एक हवाई दुर्घटना में मारे गए एक भारतीय सैनिक का शव मिला है.

भारतीय सेना ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश राज्य में ढाका ग्लेशियर पर एनसीओ जगमेल सिंह का शव मिला.

सेना के प्रवक्ता का कहना था कि सैनिक की पहचान उनके पहचान पत्र और एक बीमा पॉलिसी के ज़रिए हुई. सेना ने कहा कि उनकी जेब से एक चिट्ठी भी मिली है.

वर्ष 1968 के फरवरी महीने में सेना के इस्तेमाल में आने वाला एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और इसमें सवार 98 सैनिकों की मौत हो गई थी.

आख़िरी बार रोहतांग दर्रे के क़रीब से इस विमान ने रेडियो संपर्क किया था जो हिमाचल प्रदेश को भारत प्रशासित कश्मीर से जोड़ता है. लेकिन इसके बाद इस विमान से कोई संपर्क नहीं साधा जा सका.

बीबीसी के बलदेव एस चौहान के मुताबिक वर्ष 2003 में ढाका ग्लेशियर पर एक टीम को इत्तेफ़ाक से एंतोनोव-12 का मलबा मिला.

बाद के खोजी अभियानों में भी चार अन्य शव मिले. ताजा खोजी अभियान 13 अगस्त को शुरू हुआ था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार