'मधुर' ट्विटर को नेताओं ने कर्कश बना दिया: नीतीश

नीतीश कुमार
Image caption नीतीश कुमार ने कहा है कि उन्हें कड़े परिश्रम पर भरोसा है

राजनेताओं में दिनों-दिन लोकप्रिय हो रहे सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने व्यंग्य किया है.

नीतीश कुमार ने कहा कि राजनेताओं ने चिड़ियों की चहचहाहट (ट्विटर का शाब्दिक अर्थ) को कर्कश बना दिया है.

पटना में पत्रकारों के साथ बातचीत में उन्होंने कहा, "डिक्शनरी में ट्विटर का मतलब है चिड़ियों का चहचहाना, जो सुबह-सुबह सुनकर व्यक्ति प्रसन्न हो जाता है, लेकिन कुछ नेताओं ने ज़रूरत से ज़्यादा ट्वीट करके इसे कर्कश बना दिया है."

नीतीश कुमार ने इससे इनकार किया कि राजनेता अब इसे राजनीतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल करने लगे हैं.

विश्वास

उन्होंने कहा, "ऐसा लगता है कि कुछ नेताओं को दिन में कोई काम नहीं होता, इसलिए वे मीडिया के लिए राजनीतिक बयानबाज़ी करते रहते हैं."

बिहार के मुख्यमंत्री ने किसी का नाम नहीं लिया. लेकिन ट्विटर पर उनकी उपस्थिति नगण्य है, जबकि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ट्विटर पर काफ़ी सक्रिय रहते हैं.

नरेंद्र मोदी के अलावा भी विभिन्न पार्टियों के राजनेता और सांसद ट्विटर पर काफ़ी सक्रिय हैं और ट्विटर पर की गई उनकी टिप्पणियाँ काफ़ी सुर्खियाँ भी बटोरती है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास इंजीनियरिंग की डिग्री है, लेकिन उनका कहना है कि वे कड़े परिश्रम में यक़ीन करते हैं, इस तरह के हथकंडों में उनका भरोसा नहीं.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)