रुपया जीवन और मौत के बीच झूल रहा है: मोदी

नरेंद्र मोदी
Image caption नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में रैली की

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्री मोदी ने कहा कि रुपया जीवन और मौत के बीच खड़ा है.

उन्होंने ये बात शनिवार को छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में भारतीय जनता पार्टी की एक रैली में कही, जिसमें नरेंद्र मोदी के अलावा राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह, भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह और राज्य के कई वरिष्ठ नेता मौजूद हैं.

मोदी ने गरीबी और बेरोजगारी के अलावा कथित कोयला आवंटन घोटाले से जुड़ी फाइलें गायब होने का भी मुद्दा उठाया.

नरेंद्र मोदी अगले आम चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी की चुनाव प्रचार समिति के प्रमुख हैं. पार्टी में उन्हें प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने की मांग बराबर उठती रही हैं.

हालांकि मोदी ने पिछले दिनों ये कह कर सबको हैरान कर दिया कि वो प्रधानमंत्री बनने का सपना नहीं देखते हैं.

केंद्र पर निशाना

शनिवार को अंबिका पुर में नरेंद्र मोदी ने भारत की आर्थिक स्थिति पर कहा, "रुपया अस्पताल में जीवन और मृत्यु के बीच खड़ा हुआ है."

उन्होंने कहा, "देश की सामान्य जनता महंगाई के कारण मर रही है, ग़रीब के घर के चूल्हा नहीं जल पा रहा है...लेकिन दिल्ली में बैठी हुई सरकार ग़रीबों की परिभाषा बनाने में लगी हुई है."

उन्होंने कांग्रेस के उन नेताओं पर निशाना साधा जो कहते हैं कि पांच रुपए में पेट भर जाता है.

मोदी की इस रैली के लिए अंबिकापुर में लाल किले जैसा पंडाल बनाया है.

उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के इस बयान को भी आड़े हाथ लिया कि गरीबी तो मानसकि अवस्था बताया. उन्होंने कहा, “गरीबों के घावों पर मरहम लगाने के बजाय उनके घावों को गहरा किया जा रहा है.”

नरेंद्र मोदी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की एनडीए सरकार ने बड़े सुगम तरीक़े से उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और झारखंड जैसे राज्यों का निर्माण किया लेकिन अब तेलंगाना के मुद्दे पर कर्फ्यू लगाए जा रहे हैं. इसके लिए उन्होंने कांग्रेस की ख़राब नीतियों को ज़िम्मेदार ठहराया.

उन्होंने छत्तीसगढ़ में जल्द होने वाले विधानसभा चुनावों में जनता से रमन सिंह को जिताने की अपील की.

'बैसाखी से वोट'

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी राजनाथ सिंह ने नरेंद्र मोदी को एक बार फिर भारत का सबसे लोकप्रिय नेता बताया.

उन्होंने केंद्र की सरकार को बढ़ती महंगाई के लिए ज़िम्मेदार ठहराया.

खाद्य सुरक्षा क़ानून पर उन्होंने कहा, “हमने संसद के दोनों सदनों में इसका समर्थन किया. लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि आज़ादी के बाद 66 वर्षों में से 50 साल कांग्रेस ने राज किया है लेकिन क्या कारण है कि ग़रीबी और बेरोज़गारी बढ़ी है.”

उन्होंने कहा कि सरकार लोगों को पहले आर्थिक रूप से पंगु बनाती हैं और उसके बाद बैसाखी देकर वोट बंटोरना चाहती है.

राजनाथ सिंह ने विदेश नीति के मुद्दे पर भी केंद्र सरकार को घेरा.

भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह और नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में रमन सिंह सरकार के कामकाज की भी ख़ूब तारीफ़ की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार