उमा भारती ने दी उत्तर प्रदेश सरकार को चेतावनी

Image caption उमा भारती ने उत्तर प्रदेश सरकार को दुष्परिणाम भुगतने की चेतावनी दी

उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रनगर में हुए दंगों के मामले में विधायकों की गिरफ्तारी को लेकर राज्य की राजधानी लखनऊ में राजनीतिक पारा गर्म हो गया है.

राज्य विधानसभा के बाहर भारतीय जनता पार्टी की नेता उमा भारती ने राज्य सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि अगर भाजपा के विधायकों की गिरफ्तारी होती है तो इसके दुषपरिणामों के लिए समाजवादी पार्टी की सरकार ज़िम्मेदार होगी.

उमा भारती ने कहा, “मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विधानसभा में आज कहा था कि बिना जांच किसी की गिरफ्तारी नहीं होगी. अभी सूचना मिली है कि सदन के बाहर पुलिस की एक टीम भाजपा के विधायकों को गिरफ्तार करने के लिए आई है. तो इसका मतलब हुआ कि मुख्यमंत्री ने सदन में झूठ बोला. कोई जांच अभी तक हुई ही नहीं तो गिरफ्तारी कैसे होगी.”

उन्होंने राज्य सरकार के वरिष्ठ मंत्री आज़म खान पर सवाल उठाते हुए कहा, “आरोपों के दायरे में आने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो रही है तो उसी दायरे में जितना हुकुम सिंह हैं, भारतेंदु हैं और संगीत सोम हैं उतना ही आज़म खान भी है. इसका मतलब हुआ कि अखिलेश सरकार एक विशेष समुदाय और एक विशेष पार्टी को ही निशाना बनाना चाहती है.”

उमा भारती ने आगे कहा, “गिरफ्तारी देने में हमारी पार्टी के नेता पीछे नहीं हटेंगे, लेकिन इसके जो दुष्परिणाम होंगे उसके लिए हमारी पार्टी ज़िम्मेदार नहीं होगी.

'दो दिन' में गिरफ्तारी

भाजपा विधायक संगीत सोम ने भी लखनऊ में सदन के बाहर यही कहा कि अगर आरोपों के दायरे में वो हैं तो उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री आज़म खान भी उसी दायरे में आते हैं.

निजी चैनल के एक स्टिंग ऑपरेशन में मुज़फ्फरनगर के दो पुलिस इस्पेक्टरों ने कथित तौर पर ये कबूला है कि आज़म खान ने उत्तर प्रदेश में दंगाइयों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं करने के लिए राजनीतिक दबाव डाला था. हालांकि आज़म खान ने इन सभी आरोपों से इनकार किया है.

मुज़फ़्फ़रनगर की अदालत ने दंगों के मामले में 16 राजनीतिज्ञों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किए हैं जिनमें बसपा सांसद कादिर राना, भाजपा विधायक संगीत सोम और भारतेंदु सिंह, बसपा विधायक नूर सलीम और मौलाना जमील, कांग्रेस नेता सादीउजमान और भारतीय किसान यूनियन के प्रमुख नरेश टिकैत शामिल हैं.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रवीण कुमार ने बताया है कि इस पर दो दिन के भीतर अमल किया जाएगा.

उन्होंने कहा, “हमने तीन से चार राजनेताओं को गिरफ्तार किया है. हमने कुछ सबूत जुटाए हैं. कुछ और सबूत जल्द जुटाए जाएंगे और गिरफ्तारियां होंगी. जो भी दोषी होगा, उसे दो दिनों में गिरफ्तार किया जाएगा. ये जांच का मामला है.”

(बीबीसी हिन्दी के नए एंड्रॉएड को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार