ऑनर किलिंगः 'गांव में यह सब नहीं चल सकता'

  • 19 सितंबर 2013
रोहतक घरणौती गांव

हरियाणा में कथित रूप से ऑनर किलिंग में मारे गए युवक और युवती का अंतिम संस्कार कर दिया गया है.

उन दोनों की हत्या बुधवार शाम रोहतक ज़िले के घरणौती गांव में कर दी गई थी.

हरियाणा पुलिस ने इस मामले में लड़की के माता-पिता और चाचा के साथ-साथ एक ड़्राइवर को भी गिरफ़्तार किया है जो मारे गए लड़का और लड़की को दिल्ली से गाँव तक गाड़ी में लेकर आया था.

इस सबके बाद भी गांव में इन हत्याओं को लेकर कोई दुख या पछतावा नहीं है और लोग इसे सही ठहरा रहे हैं.

बर्दाश्त नहीं

गुरुवार सुबह पहले लड़के की अंत्येष्टि की गई और उसके बाद 20-22 लोग लड़की के शव के साथ आए और उसकी अंत्येष्टि की गई.

गांववालों का आरोप है कि दोनों के बीच नाजायज़ संबंध थे. उनका कहना था कि गांव में ऐसी चीज़ें नहीं होती हैं उन लोगों पर शहरों का असर हो गया था.

ज़्यादातर गांववालों का कहना था कि दोनों एक ही गोत्र के थे और इसलिए उनके बीच प्रेम या शादी संभव नहीं हो सकती. उन्हें दो साल से समझाया जा रहा था लेकिन वह नहीं माने.

दो दिन पहले वह गांव से भागकर दिल्ली चले गए थे जहां से उन्हें ले आया गया और फिर गांव में लाकर उनकी हत्या कर दी गई.

श्मशान घाट में बीबीसी को लड़की के चाचा और अन्य परिजनों के साथ ही लड़के के परिजन भी मिले. उनका कहना था कि उनके बीच कोई रंजिश नहीं है.

गांव के अन्य लोगों के विचार भी इसी तरह के थे.

गांव के एक व्यक्ति ने कहा, "गांव के हिसाब से यह बिल्कुल ठीक हुआ है जी. यहां कोई यह सब बर्दाश्त नहीं कर पाएगा. शहर वाले सोच सकते हैं कि दोस्त हैं यह चल सकता है लेकिन गांव में यह सब नहीं चल सकता."

उन्होंने यह भी कहा, "हत्या की मुख्य वजह यह थी कि दोनों लोग एक ही गांव के, एक ही गली के और एक ही गोत्र के थे. गांव में यह किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता."

हत्या का मामला

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, "‏शुरुआती ख़बरें इस ओर संकेत करती हैं कि लड़की को उसी के परिवार के सदस्यों ने पीट-पीट कर मार डाला और फिर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया. इसके बाद लड़की के प्रेमी की पिटाई कर उसका सिर काट डाला.''

पुलिस अधिकारी का कहना था कि दोनों कॉलेज छात्र थे और उनकी शादी करने की योजना थी लेकिन लड़की के घर वाले इसके ख़िलाफ़ थे.

उन्होंने ये भी बताया कि लड़के के परिवार वाले लड़की के घरवालों के ख़िलाफ़ शिक़ायत दर्ज करने में हिचकिचा रहे थे इसलिए "हमें ख़ुद ही मामला दर्ज करना पड़ा."

पुलिस इस बात की भी जांच कर रही थी कि कहीं हत्या में लड़के के परिवार की भी सहमति तो नहीं थी.

इस तरह की घटनाओं को रोके जाने के सवाल पर पुलिस अधिकारी ने कहा कि वह तो अपराध करने वालों को गिरफ़्तार कर सकते हैं, जो उन्होंने किया है.

इन सभी के ख़िलाफ़ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार