तीसरे मोर्चे का गठन चुनाव के बाद: मुलायम

मुलायम सिंह यादव, तीसरा मोर्चा

समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने एक बार फिर तीसरे मोर्चे की संभावनाओं को हवा दे दी है हालांकि उनका कहना है कि तीसरे मोर्चे का जन्म 2014 के आम चुनाव के बाद हो सकता है.

मुलायम सिंह का कहना है कि इस सिलसिले में उनकी वाम मोर्चे से बातचीत जारी है.

मुलायम ने कहा, "तीसरा मोर्चा चुनाव के बाद बन सकता है. चुनाव से पहले यह नहीं बन सकता. हम इस बारे में प्रकाश करात से बात कर रहे हैं."

सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुलायम सिंह ने कहा, "अभी मोर्चे का गठन मुमकिन नहीं है क्योंकि टिकट बंटवारे को लेकर मतभेद पैदा हो सकते हैं."

हालांकि उन्होंने दावा किया कि अगला प्रधानमंत्री गठबंधन दलों से होगा.

वाम दल सक्रिय

माकपा पोलित ब्यूरो के सदस्य भी नई दिल्ली में दो दिन के लिए बैठक कर रहे हैं. इनकी कोशिश है कि सभी ग़ैर कांग्रेसी, ग़ैर भाजपा पार्टियों को लोकसभा चुनाव से पहले एक मंच पर लाया जा सके.

चुनाव के मद्देनज़र तैयारियों के तहत सीपीआईएम दिल्ली में 30 अक्तूबर को एक राष्ट्रीय सम्मेलन करने वाली है. इसका विषय होगा– धर्मनिरपेक्षता के हक़ में.

माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव और जनता दल यूनाइटेड अध्यक्ष शरद यादव इसमें भाग ले सकते हैं. इस बैठक में पांच राज्यों की चुनाव तैयारियों पर भी चर्चा होने की संभावना है.

शुक्रवार को मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि वे सीपीआईएम के महासचिव प्रकाश करात से मुलाकात करेंगे और तीसरे मोर्चे के गठन की संभावनाओं पर बात करेंगे.

उनका कहना था कि उनकी पार्टी हमेशा सांप्रदायिक ताकतों से लड़ती रहेगी और उनकी असली लड़ाई भाजपा के साथ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित समाचार