उत्तर प्रदेश सरकार को पिटने का डर: राहुल

कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में अपना चुनावी अभियान शुरू कर दिया है. अलीगढ़ में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने एक बार फिर कहा कि आपराधिक छवि वाले लोगों को भारतीय राजनीति से बाहर करने के लिए जनप्रतिनिधित्व कानून वाले अध्यादेश को रोकने का उनका कदम सही था.

राहुल ने कहा कि हालांकि उन्होंने जिस तरह से ये कहा था, वैसे उन्हें नहीं कहना चाहिए था.

राहुल ने बताया, "इस मुद्दे पर गुजरात में मुझे कुछ लोगों ने कहा कि आपने अध्यादेश वापस लेने वाली बात ग़लत समय पर कही. तो मैंने उनसे पूछा कि सच कहा था, या झूठ. तब लोगों ने कहा कि आपने सच कहा था.''

राहुल ने इन लोगों से हुई बातचीत का हवाला देते हुए सवाल पूछा कि सच बोलने के लिए भी समय होता है क्या, सच बोलने के लिए समय चुनना होगा क्या?

उनके इस सवाल पर अलीगढ़ के लोगों ने खूब तालियां बजाईं.

'कांग्रेस किसानों के साथ'

राहुल गांधी के मुताबिक कांग्रेस पार्टी हमेशा किसानों के साथ रही है.

उन्होंने भूमि अधिग्रहण विधेयक का हवाला देते हुए कहा कि सरकार के इस कानून से सबसे ज़्यादा फ़ायदा अलीगढ़ के किसानों को ही होगा.

राहुल गांधी ने प्रदेश की समाजवादी पार्टी की सरकार की आलोचना करते हुए कहा, "ये महज कंप्यूटर की सरकार है, जो चलती नहीं है क्योंकि बिजली नहीं आती लेकिन कांग्रेस की सरकार अधिकारों वाली सरकार है. जिसने पहले रोजगार का अधिकार दिया, अब हम भोजन का अधिकार ले कर आए हैं, ताकि आम लोगों के बच्चों को हर दिन भोजन मिल सके."

उन्होंने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, "उत्तर प्रदेश सरकार भोजन के अधिकार को 2014 के चुनाव तक लागू नहीं करना चाहती क्योंकि उसे डर है कि चुनाव में उसकी पिटाई हो जाएगी."

'लड़ाने वालों से बचें'

ऐसे में राहुल ने अलीगढ़ के लोगों से अपील की कि उन्हें ये हक हासिल करने के लिए आगे आना होगा.

राहुल ने स्पष्ट किया कि कांग्रेस के नेतृत्व में यूपीए सरकार ने जिस तरह से 2004 के वादों को पूरा किया, 2009 में काम किया है, उसे 2014 में भी जारी रखेगी.

मुजफ़्फ़रनगर में हुई हिंसा का ज़िक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि आम लोग हिंसा नहीं चाहते.ना तो हिंदू और ना ही मुसलमान, लेकिन उत्तर प्रदेश में ऐसे लोग राजनीतिक तौर पर सक्रिय हैं जो लोगों को आपस में लड़ा रहे हैं.

उन्होंने कहा, "मैंने हिंदू से भी बात की और मुसलमानों से भी. उन्होंने मुझसे कहा कि हमारे बीच कोई दुश्मनी नहीं है, लेकिन राजनीतिक लोग हमें बर्बाद कर रहे हैं."

आक्रामक अंदाज़

राहुल ने कहा देश की आम जनता काम करना चाहती है, आगे बढ़ना चाहती है और कांग्रेस की राजनीति आम लोगों को उनका अधिकार देने की रही है.

राहुल ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश पीछे जा रहा है और प्रदेश को आगे करने का काम ना तो समाजवादी पार्टी कर सकती है और ना ही बहुजन समाजवादी पार्टी, यह काम कांग्रेस पार्टी ही कर सकती है.

अलीगढ़ में राहुल बहुत ज़्यादा देर तक नहीं बोले लेकिन उनका अंदाज़ बेहद आक्रामक रहा. छोटे से भाषण में उन्होंने कांग्रेस और आम पार्टी को जोड़ने की पूरी कोशिश की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार