#पायलिन से लेकर #ओडीशा की गूंज सोशल मीडिया पर

अमिताभ बच्चन
Image caption अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर पायलिन से लोगों की सलामती की दुआ मांगी.

सोशल मीडिया पर ओडीशा और आंध्र प्रदेश में आने वाले संभावित तूफ़ान पायलिन की चर्चा छाई है. लोग इसके बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानना चाहते हैं.

साथ ही कई लोग तमाम हैल्प लाइन नंबर और पायलिन से संबंधित कई जानकारियों को भी यहां शेयर कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह के अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया, "विदेशी दौरे से लौटने के तुरंत बाद प्रधानमंत्री ने तूफ़ान के मद्देनज़र पैदा हुए हालातों का जायज़ा लिया. कैबिनेट सचिव ने प्रधानमंत्री को तूफ़ान के प्रभाव से निपटने की व्यवस्था के बारे में जानकारी दी. प्रधानमंत्री ने प्रभावित होने वाले राज्यों को लोगों की सुरक्षा के लिए राहत और बचाव के तमाम ज़रूरी कदम उठाने के निर्देश दिए."

सलामती की दुआ

सुपरस्टार अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर पर सबकी सलामती की दुआ की और लोगों से सावधान रहने और अपने आपको बचाने की अपील भी की.

(कैसे बचें पायलिन से) केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने ट्वीट किया, "अष्टमी की रात हम आँध्र प्रदेश और ओडीशा में पेयलीन तूफ़ान से प्रभावित होने वाले लोगों के लिए भी पूजा करें."

सांसद नवीन जिंदल ने लिखा, "ये भारत का कटरीना है. मैं लोगों के सलामत रहने की दुआ करता हूं."

पर्यावरण विशेषज्ञ सुनीता नारायण लिखती हैं, "तटीय स्थानों में रिहायशी इलाके बनाकर हम प्राकृतिक आपदा से होने वाली बर्बादी को आमंत्रण दे रहे हैं."

वहीं मशहूर मीडिया हस्ती प्रीतीश नंदी ने राज्य सरकार की सराहना करते हुए लिखा, "राज्य सरकार ने लोगों को सुरक्षित स्थान पहुंचाने की दिशा में अच्छा काम किया है."

गायिका श्रेया घोषाल ने ट्वीट किया, "दुआ कर रही हूँ कि पायलीन तूफ़ान से ओडीशा और आँध्र प्रदेश में किसी को नुकसान न पहुँचे."

क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा, "आओ दुआ करें की तूफ़ान पायलिन शांति से गुज़र जाए. मेरा दिल तटीय इलाक़ों में रह रहे लोगों के लिए दुआ कर रहा है. उम्मीद है सभी को सुरक्षित निकाल लिया जाएगा"

(कैसे हैं हालात)

कई और लोगों ने मौसम विभाग की तारीफ़ करते हुए लिखा कि इस बार पायलिन जैसे तूफ़ान का पूर्वानुमान बिलकुल सही लगाया गया, जिससे संभावित विनाश को रोका जा सकेगा.

जानकारी और 'अफ़वाहें'

वहीं कई लोगों ने ये जानकारी भी दी कि ओडीशा के कई बड़े शहरों में भी तूफ़ान की आशंका के मद्देनज़र बाज़ार बंद हैं और खाने-पीने की चीज़ें मिलने में दिक़्क़तें पेश आ रही हैं.

Image caption सोशल मीडिया पर कई लोग पायलिन के पूर्वानुमान के लिए मौसम विभाग की तारीफ़ भी कर रहे हैं.

भुवनेश्वर में बिजली की समस्या भी हो रही है.

वहीं कई लोगों ने गुज़ारिश की कि पायलिन से जुड़ी ख़बरें सोशल मीडिया में शेयर करते वक़्त अफ़वाहें ना फ़ैलाई जाएं और लोगों को भयभीत करने का काम ना किया जाए.

(क्या है पायलिन)

ओडीशा के संभावित तूफ़ान प्रभावित क्षेत्र गोपालपुर में दुकानें और बाज़ार बंद होने और सड़कें सुनसान होने की ख़बरें भी सोशल मीडिया पर आ रही हैं.

सोशल मीडिया पर एक बड़े वर्ग का मानना है कि भारत इस तरह की प्राकृतिक आपदाओं से निपटने में अब भी सक्षम नहीं है और एजेंसियों के बीच बेहतर तालमेल की सख़्त ज़रूरत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार