मध्य प्रदेश में 'ऑनर किलिंग', 20 दिन बाद कुएं से निकली लाश

ऑनर किलिंग
Image caption भारत में सम्मान के नाम पर हत्या के मामले अक्सर सामने आते रहते हैं.

मध्‍यप्रदेश में ऑनर किलिंग का कथित मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि दूसरे समुदाय के युवक से प्रेम करने वाली एक युवती के पिता और भाई ने ही पाँच लाख रुपये की सुपारी देकर कथित हत्या करवा दी.

युवती 18 साल की थी और 12वीं में पढती थी. इस मामले में पुलिस ने लडकी के पिता, भाई और कांट्रेक्‍ट किलर समेत कुल छह लोगो को गिरफ़्तार किया है.

मामला प्रदेश के देवास जिले का है. देवास मध्‍यप्रदेश के उस अंचल में हैं, जो सांप्रदायिक नज़रिए से बेहद संवेदनशील माना जाता है.

देवास के पुलिस अधीक्षक अनिल माहेश्‍वरी ने बीबीसी को बताया, ''हमारी जांच में अब तक यह मामला ऑनर किलिंग का ही नजर आ रहा है. लडकी के भाई ने इंदौर से बुलाए भाडे के हत्‍यारों को पांच लाख रूपए देकर उसकी हत्‍या कराई. हत्‍या से पहले वह खुद अपनी बहन को लेकर आरोपियों के पास पहुंचा.''

माहेश्‍वरी का कहना है, ''अदालत ने सभी अभियुक्तों को 22 अक्‍टूबर तक के लिए पुलिस रिमांड पर सौंपा है. इस दौरान यह पता लगाने की कोशिश भी की जाएगी कि हत्‍या का कोई और एंगल तो नहीं है.''

देवास कोतवाली थाने के प्रभारी भूपेन्‍द्र सिंह के मुताबिक इस घटना को गत 30 सितम्‍बर को ही अंजाम दे दिया गया था, लेकिन पुलिस को शुक्रवार को इंदौर के एक कुंए से दो बोरो में बंद लडकी की लाश के टुकडे मिले.

पुलिस का दावा है कि आरोपी पिता पुत्र ने अपना अपराध कुबूल कर लिया है. देवास कोतवाली में दर्ज एफआईआर के मुताबिक 30 सितम्‍बर को नगीना पिता आदम हाजी मेमन उम्र 18 वर्ष की गुमशुदगी की रिपोर्ट उसकी बडी बहन हसीना ने दर्ज कराई थी.

गुमशुदगी की रिपोर्ट

Image caption हाल ही में रोहतक के एक गाँव में एक प्रेमी युगल की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी.

एफआईआर के मुताबिक नगीना कोचिंग जाने का कहकर घर से निकली थी लेकिन घर नहीं लौटी.

इस पर कोतवाली पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर लिया. पुलिस उसे तलाश कर रही थी, इसी बीच एक मुख़बिर के ज़रिए पुलिस तक यह खबर पहुंची कि नगीना की उसके भाई इरफान व पिता आदम हाजी ने सुपारी देकर हत्या करवा दी है.

सुपारी

इरफान ने सुपारी किलर को यह भी बताया कि नगीना रोज दुकान से चार पाँच हजार रूप्ए निकाल कर अपने प्रेमी पर खर्च करती है. थाने के प्रभारी भूपेन्‍द्र सिंह के मुताबिक इसके बाद पांच लाख रूपए में नगीना को खत्‍म करने का सौदा हुआ.

30 सितम्‍बर को रात सवा आठ बजे इरफान अपनी बहन को आरोपियों की कार तक ले गया. यहां आरोपियों ने भाई की मौजूदगी में बहन की हत्‍या कर उसके शव को दो बोरो में भर दिया. लाश के बोरो को इन्‍होने इंदौर के पास खेत में बने एक कुंए में फेक दिया.

शुक्रवार को लड़की की लाश बरामद कर पुलिस ने लड़की के पिता और भाई समेत कुल छह आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने अपना ज़ुर्म कबूल कर लिया है.

थाना प्रभारी भूपेन्‍द्र सिंह के मुताबिक आरोपी परिवार का किराने का बड़ा व्‍यवसाय है. इस मामले में मृतक लडकी के किसी परिजन से संपर्क नहीं हो पाया. बताया जा रहा है कि लडकी की मां बीमार है और पिता व भाई जेल में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार