भारत का मंगल अभियान टला

मंगल यान
Image caption भारत के मंगलयान का प्रक्षेपण पहले अक्तूबर के अंत में होना तय हुआ था.

भारत के मार्स ऑर्बिटर मिशन यानी मंगलयान का प्रक्षेपण करीब एक हफ़्ते के लिए टाल दिया गया है.

प्रक्षेपण टालने के पीछे वजह प्रशांत महासागर में ख़राब मौसम होना है.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के प्रवक्ता डी पी कार्णिक ने बीबीसी से कहा, "मार्स ऑर्बिटर मिशन को एक हफ़्ते के लिए टाल दिया गया है. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि दूसरे जहाज़ के प्रशांत महासागर में पहुंचने में देरी हुई है."

भारत मंगल अभियान पर प्रशांत महासागर से नज़र रखना चाहता है.

इसके लिए दो जहाज़ प्रशांत महासागर में तैनात किए गए हैं. जो रॉकेट के लॉन्च होने के कुछ मिनट बाद तक उस पर नज़र रखेंगे जब ये प्रशांत महासागर के ऊपर से उड़ान भरेगा.

लेकिन खराब मौसम की वजह से एक जहाज़ के पहुंचने में देरी हुई है. माना जा रहा है कि दूसरा जहाज़ 22 अक्तूबर तक प्रशांत महासागर में पहुंचेगा.

डी पी कार्णिक ने कहा, "सब कुछ तैयार है. स्पेसक्राफ़्ट तैयार है. सैटेलाइट तैयार है. ऐसा मुख्य तौर पर ख़राब मौसम की वजह से किया गया है."

इसरो का इरादा मंगलयान को अक्तूबर के आखिर तक मंगल के लिए रवाना करने का था.

अगर ये यान 19 नवंबर तक लॉन्च नहीं हुआ तो इसे करीब दो साल के लिए टालना पड़ सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार