नरेंद्र मोदी: समाजवादी नहीं दंगा पार्टी है ये

नरेंद्र मोदी

कानपुर की रैली के साथ बीजेपी के उत्तर प्रदेश के लोकसभा चुनाव अभियान की आक्रामक शुरुआत करते हुए नरेंद्र मोदी ने यूपी में सत्ता पर काबिज़ समाजवादी पार्टी और केंद्र की यूपीए सरकार पर तीखी टिप्पणियाँ कीं हैं.

नरेंद्र मोदी जब भाषण देने के लिए मंच पर आए तो उन्हें प्रधानमंत्री कहकर संबोधित किया गया. साथ ही मंच से 'शेर आया शेर आया', 'भारत का शेर आया' नारे भी लगाए गए.

मोदी ने कहा, "कानपुर की इस रैली ने मुझे जीत लिया है."

समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी को अब 'दंगा पार्टी' कहा जाना चाहिए.

मोदी ने रैली में उपस्थित लोगों से पूछा, 'क्या आप अपने बच्चों को भी ऐसी ही जिंदगी जीने के लिए मजबूर करना चाहते हो जैसी आप जी रहे हैं? आप अपने बच्चों का भविष्य बदलना चाहते हो तो संकल्प लो कि जिन्होंने आपको तबाह कर दिया उन्हें अपने बच्चों को तबाह करने का अधिकार नहीं देंगे.'

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा, "उत्तर प्रदेश की जनता ने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को कांग्रेस का समर्थन करने के लिए वोट नहीं दिया था. सीबीआई से क्लीन चिट पाने के लिए सपा और बसपा ने कांग्रेस की सरकार को समर्थन दिया. अब तो क्लीन चिट मिल गई है, अब तो समर्थन वापस ले लो."

झूठे वादे

Image caption नरेंद्र मोदी ने कानपुर की रैली में कांग्रेस के सहयोगी दलों पर भी निशाना साधा.

रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, "चुनाव आते समय झूठे वादे करना, जनता को मूर्ख बनाना, जनता की आँखों में धूल झोंकना- पिछले साठ साल में कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों ने इसमें मास्टरी हासिल कर रखी है. हर चुनाव में वो अगले चुनाव की बातें भुला देते हैं और नया शग़ूफ़ा छोड़ देते हैं. 2009 में कांग्रेस पार्टी ने सौ दिन में महंगाई हटाने का वादा किया था क्या कांग्रेस पार्टी ने यह वादा पूरा किया?"

उन्होंने सवाल किया, "गरीब के घर में चूल्हा नहीं जल रहा है, बच्चे आँसू पीकर सो रहे हैं और माँ बच्चों को देखकर बिलखती रहती है. केंद्र सरकार है जो गरीब के घर में चूल्हा जलने की चिंता न कर सकती है और महँगाई को रोक न सकती है? क्या मैडम सोनिया ने कभी महँगाई कम न कर पाने पर दुख जताया है, क्या कभी उनके शहजादे ने भी दो शब्द कहे."

नरेंद्र मोदी ने कानपुर से भी 'कांग्रेस मुक्त भारत' का नारा दिया.

उन्होंने कहा, "न सिर्फ़ कांग्रेस पार्टी बल्कि उनके सहयोगी दलों को भी नीचे धकेल देने की आवश्यक्ता है."

उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर टिप्पणी करते हुए मोदी ने कहा, "पिछले एक साल में पाँच हज़ार से अधिक निर्दोष लोगों की हत्या हुई. और फ़िर भी यूपी सरकार अपनी वोट बैंक की राजनीति का खेल खेल रही है. जिन पर आतंकवाद के गंभीर आरोप लगे हैं ऐसे लोगों को भी जेल से रिहा करने की तैयारी की जा रही है."

मोदी ने पूछा, "क्या ऐसे लोगों को जेल से छोड़ना चाहिए, क्या वोट बैंक की राजनीति के लिए देश की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जाना चाहिए?"

"इस देश के राजनेताओं को डर लगना चाहिए कि अब जनता जाग चुकी है."

गुजरात की तारीफ़ करते हुए मोदी ने कहा, "जब यूपी से जाने वाली ट्रेन गुजरात में प्रवेश करती हैं तो माँ निश्चित हो जाती है कि अब मेरा बेटा सुरक्षित है."

ग़रीबों का मज़ाक

Image caption भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने भी समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा.

मोदी ने कोयला घोटाले पर चुटकी लेते हुए कहा, "कोयले की राख कानपुर पर भी छाई हुई है. कानपुर में जो प्रदूषण है ये दिल्ली के कोयले की राख का है. सिर्फ़ कोयला घोटाले की फाइलें नहीं खोई हैं बल्कि दिल्ली में तो सरकार ही खो गई है. सरकार कहीं नज़र ही नहीं आ रही है."

राहुल गाँधी पर कटाक्ष करते हुए मोदी ने कहा कि, "कांग्रेस के शहज़ादे कहते हैं कि ग़रीबी कुछ नहीं होती, ये तो मन की अवस्था होती है. जो सोने की चम्मच लेकर पैदा हुए हैं उन्हें ग़रीबी क्या होती है पता नहीं है. ग़रीबी देखने के लिए वे कैमरों के हुजूम लेकर ग़रीब की झोपड़ी में जाते हैं."

मोदी ने 12 रुपये में खाना मिलने के कांग्रेसी नेताओं के बयान को ग़रीबों की बेइज़्जती बताते हुए कहा कि सरकार गरीबों के लिए होनी चाहिए लेकिन सत्ताधारी दल को ग़रीबों की परवाह ही नहीं है.

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी खाद्य सुरक्षा योजना पर टिप्पणी कहते हुए मोदी ने कहा, "आजकल वे खाद्य सुरक्षा बिल का ढोल पीट रहे हैं. इस बिल के तहत मध्याह्न भोजन के तहत बच्चों को मिलने वाले खाने से भी कम खाना वयस्कों को मिलेगा. यह भूखा रखने का क़ानून है या पेट भरने का क़ानून?"

इंडिया फर्स्ट

कांग्रेस पर सांप्रदायिकता की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा, "कांग्रेस चुनावों में वोट बैंक की राजनीति की जड़ी बूटी का इस्तेमाल करती है. कांग्रेस पार्टी सेक्युलरिज़्म का नारा देकर लोगों को बाँटने का काम करती है जबकि हमारा मंत्र है कि हिंदू अच्छा हिंदू बने और मुसलमान अच्छा मुसलमान बने, ईसाई अच्छा ईसाई बने, बौद्ध अच्छा बौद्ध बने, सिख अच्छा सिख बने और हम सब मिलकर भारत माँ को अच्छा बनाने का काम करें."

मोदी ने एक बार फिर इंडिया फर्स्ट का नारा दोहराया. मोदी ने कहा कि अब वोट बैंक की राजनीति को सदा-सदा के लिए ख़त्म करना होगा और विकास की राजनीति की शुरुआत करनी होगी.

नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह दोनों ने सीमा पर भारतीय सैनिकों के सिर कलम करने की घटना का ज़िक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस के शासन में पाकिस्तान भारत के सैनिकों के सिर काटने का दुस्साहस कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार