रामदेव ने भाई पर लगे आरोपों का खंडन किया

बाबा रामदेव

योग गुरु रामदेव ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि 'पार्टी सत्ता के नशे में चूर है और संस्थाओं का दुरुपयोग कर रही है'.

अपने भाई पर अपहरण के आरोप में दर्ज मामले से भड़के योग गुरु रामदेव ने इंदौर में कहा कि गांधी खानदान के कहने पर पुलिस उन्हें और उनके परिवार को अपराधी साबित करने पर आमादा है.

योग गुरु रामदेव ने इन आरोपों से इनकार किया है.

उन्होंने कांग्रेस की अगुवाई वाली केन्द्र सरकार पर बरसते हुए कहा, "यह नीचता की हद है. कांग्रेस बौखलाई हुई है और सरकारी संस्थाओं का दुरुपयोग कर रही है."

योग गुरु ने कहा, "इनकी साजिश है कि योग पीठ में कहीं भी प्रोफेशनल लोगों से ड्रग रखवा दो. बाबा की छवि खंडित करो."

मामला

उत्तराखंड में हरिद्वार पुलिस ने योग गुरु रामदेव के भाई रामभरत के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज किया है.

सिटी एसपी सुरजीत सिंह पवार ने बीबीसी को बताया कि सोमदत्त नाम के व्यक्ति ने अपने पोते नितिन त्यागी के अपहरण का मामला दर्ज कराया है जिसे उनके अनुसार “18 अक्टूबर को रामभरत और कुछ अन्य लोग उठाकर ले गए.”

उन्होंने बताया कि तीन दिन हिरासत में रखे जाने के बाद पुलिस ने नितिन को बरामद कर लिया.

पवार के मुताबिक “जो तथ्य प्रकाश में आए हैं उनके मुताबिक बंधक को पतंजलि योगपीठ फेस 2 में रखा गया था. इसके अधार पर कानूनी कार्रवाई हो रही है.”

बंधक बनाए गए युवक के परिजन हरपाल त्यागी ने बताया कि नितिन ने तीन साल तक पतंजलि योगपीठ में काम किया था लेकिन दो साल पहले वह वहां से नौकरी छोड़ चुके थे.

परिजनों का कहना है कि रामभरत ने नितिन पर पतंजलि योगपीठ से सामान चोरी करने का आरोप लगाया जिससे वो इनकार करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार