पाकिस्तान मुज़फ़्फ़रनगर पीड़ितों को आतंकवाद की ओर खींच रहा है: राहुल गांधी

राहुल गांधी

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी, भाजपा, पर उत्तर प्रदेश में राजनैतिक लाभ के लिए दरार डालने का आरोप लगाया है.

लेकिन दूसरी तरफ़ राहुल गांधी ने ये भी दावा किया है कि पाकिस्तानी संस्थाएं मुज़फ़्फ़रनगर दंगों के के कुछ पीड़ितों को आतंकवाद की ओर खींचने की कोशिश कर रही हैं.

गुरुवार को मध्य प्रदेश के इंदौर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि दंगों के बाद वह विभिन्न समुदायों के लोगों से मिलने मुज़फ़्फ़रनगर गए थे जहां उन्हें बताया गया कि लोगों में कोई दुश्मनी नहीं है लेकिन फिर भी उन्हें एक-दूसरे से लड़वाया गया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक राहुल ने आरोप लगाया, "भाजपा को लगा कि जब तक उत्तर प्रदेश में हिंदू बनाम मुस्लिम जैसे हालात नहीं होंगे तब तक उन्हें फ़ायदा नहीं होगा. इसलिए उन्होंने (भाजपा) ने ये आग लगाई."

राहुल गांधी ने ये भी कहा कि कांग्रेस ने उस "आग को बुझाया था."

पाकिस्तान की कोशिशि

उन्होंने कहा कि ख़ुफ़िया विभाग के एक अधिकारी ने उन्हें बताया था कि मुज़फ़्फ़रनगर में सांप्रदायिकता की वजह से पाकिस्तानी ख़ुफ़िया संस्थाओं ने 10-17 मुस्लिम युवाओं के एक ऐसे गुट से संपर्क स्थापित किया है जिनके रिश्तेदार इन दंगों में मारे गए थे.

राहुल गांधी का दावा था कि इस अधिकारी ने उन्हें बताया कि वह इन युवाओं को पाकिस्तानी अधिकारियों के प्रभाव से दूर रहने के लिए मनाने की कोशिश कर रहा है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, "उन्होंने (भाजपा) ने यह आग लगाई है, अब इसे कौन बुझाएगा? वह जहां भी जाते हैं, ये सोच कर आग लगा देते हैं कि इससे उन्हें चुनाव में फ़ायदा होगा. लेकिन वह ये नहीं देखते कि इससे देश को नुकसान होता है."

अपनी पार्टी की बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा, "हम लोगों से कहते हैं कि वे न लड़ें."

राहुल गांधी ने ये भी कहा कि अपने इंडिया शाइनिंग अभियान के बावजूद भाजपा 2004 में लोक सभा चुनाव हार गई थी और साल 2009 में भी हारी क्योंकि भारतीय सह-अस्तित्व में विश्वास करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार