बलात्कार के आरोप में बाबूलाल नागर गिरफ़्तार

बाबूलाल नागर
Image caption बाबूलाल नागर ने आरोप लगाने वाली महिला के साथ अपने संबंधों की बात स्वीकार की है

बलात्कार के आरोप का सामना कर रहे राजस्थान सरकार के पूर्व मंत्री बाबूलाल नागर को पूछताछ के बाद केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को गिरफ़्तार कर लिया.

जाँच एजेंसी ने नागर को पूछताछ के लिए जयपुर के सर्किट हाउस में बुलाया था. पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया. उनसे गुरुवार को भी सीबीआई ने सर्किट हाउस में पूछताछ की थी.

सीबीआई अब नागर को अदालत में पेशकर रिमांड मांगेगी. नागर से हुई पूछताछ की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई गई है.

संबंध स्वीकारे

नागर की गिरफ्तारी के बाद सर्किट हाउस में उनके समर्थक जमा होने लगे थे. यह देखकर पुलिस ने वहाँ सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी थी. नागर ने ख़ुद को बेगुनाह बताया.

नागर के ख़िलाफ़ 35 साल की एक महिला ने बलात्कार का आरोप लगाया था. उनका कहना था कि नागर ने जयपुर के सिविल लाइंस इलाके में स्थित अपने सरकारी आवास पर कथित रूप से गत 11 सितंबर को उनसे बलात्कार किया.

उन्होंने इसके ख़िलाफ़ अदालत में अपील की थी. अदालत के निर्देश पर पुलिस ने मामला दर्ज किया था. राजस्थान सरकार ने बाद में मामले की जाँच सीबीआई को सौंप दी थी.

नागर ने अपना ब्रेन मैपिंग या नार्को टेस्ट करने के पेशकश की है. इसके साथ ही उन्होंने ने आरोप लगाने वाली महिला का भी नार्को टेस्ट कराने की मांग की है.

राजनीतिक नफ़ा-नुक़सान

यह मामला ऐसे समय सामने आया जब राजस्थान में कांग्रेस विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी थी.

बाबूलाल नागर ऐसे दूसरे मंत्री हैं, जिन्हें पिछले कुछ समय में यौन उत्पीड़न के आरोप में मंत्री पद गवाना पड़ा है. इससे पहले तत्कालीन जलसंसाधन मंत्री महिपाल मदेरणा को भंवरी कांड में न केवल इस्तीफा देना पड़ा बल्कि जेल भी जाना पड़ा था.

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार में नागर खादी और डेयरी मंत्री थे.

यह मामला सामने आने के बाद उन्होंने 19 सितंबर को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.

आरोप लगाने वाली महिला ने सीबीआई की कार्रवाई पर संतोष जताया है. वहीं बाबूलाल नागर इस मामले को विरोधियों की साजिश बताते रहे हैं.

दलित वर्ग से आने वाले नागर लगातार तीन बार से विधायक चुने जा रहे हैं. उन्हें 2008 में मंत्री बनाया गया था.

वे इस बार भी चुनाव लड़ना चाहते थे. लेकिन इस घटना ने उनकी राजनीतिक यात्रा में अवरोध लगा दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार