बीजेपी ने शिंदे से मांगा जवाब, करेगी राहुल की शिकायत

  • 25 अक्तूबर 2013

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के ّभाषण के ख़िलाफ़ वह चुनाव आयोग से शिकायत करेगी. साथ ही पार्टी ने गृहमंत्री से भी इस भाषण पर जवाब मांगा है.

मुज़फ़्फ़रनगर दंगों में प्रभावित मुस्लिम युवकों पर राहुल गांधी के बयान से घमासान मचा है. राहुल ने इंदौर में कांग्रेस की रैली में कहा है कि बीजेपी घृणा की राजनीति कर रही है.

राहुल ने कहा है कि बीजेपी को लगा कि सांप्रदायिक लडाई के बगैर बात नहीं बनेगी. लिहाज़ा उन्होंने दंगों की आग लगा दी. बीजेपी के नेताओं को चिंता नहीं कि इस आग को कौन बुझाएगा और इससे देश को कितना नुकसान होगा. अब वो सोचते हैं कि लोगों को लड़ाकर चुनाव जीत जाएंगे.

'राहुल के आरोप आधारहीन'

बीजेपी इस बयान पर भड़की हुई है. बीजेपी के उपाध्यक्ष मुख़्तार अब्बास नक़वी ने कहा है कि राहुल गांधीने बीजेपी के खिलाफ आधारहीन आरोप लगाए हैं. हम उनके और कांग्रेस के ख़िलाफ़ चुनाव आयोग में कार्रवाई करने की शिकायत करेंगे.

बीजेपी ने शिंदे को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे को जवाब देना चाहिए कि ख़ुफ़िया अधिकारी क्यों कांग्रेस सांसद को जानकारियां देते हैं. उन्होंने ये भी कहा कि शिंदे जवाब दें कि सरकार ऐसा करने वाले ख़ुफ़िया अधिकारियों के ख़िलाफ़ क्या एक्शऩ लेने जा रही है.

बीजेपी नेता ने कहा कि अगर राहुल गांधीये कह रहे हैं कि पाक ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई उत्तर भारत में युवाओं के संपर्क में है तो सरकार ने क्या एक्शन लिया है? गृह मंत्री ये जवाब भी दें.

इंदौर में कांग्रेस की 'सत्ता परिवर्तन ' रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा था कि मेरे दफ़्तर में एक भारतीय गुप्तचर अधिकारी आया. उसने मुझे बताया कि पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी के लोगों ने मुज़फ़्फ़रनगर के उन 10-15 मुसलमान लड़कों से बात करके उन्हें बरगलाना शुरू कर दिया है, जिनके भाई-बहन दंगों में मारे गए हैं. राहुल ने कहा कि जब वह मुज़फ़्फ़रनगर के दंगा प्रभावित लोगों से मिले तो उन लोगों ने उन्हें बताया कि इस शहर में दंगों की आग जान-बूझकर लगाई गई.

मुस्लिम नेता भी नाराज़

राहुल के बयान से मुस्लिम नेताओं ने भी नाराज़गी ज़ाहिर की है. शिया धर्म गुरु मौलाना सैफ अब्बास नक़वी ने कहा कि ऐसे बयानों ने केवल मुस्लिम समुदाय बदनाम होता है बल्कि सांप्रदायिक तत्वों को मज़बूत होने का मौका मिलता है.

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष मौलाना कल्बे सादिक ने कहा कि जो अल्पसंख्यकों की ईमानदारी पर सवालिया निशान लगा रहा है, वह देश और मुसलमानों से खिलवाड़ कर रहा है.

समाजवादी पार्टी के नेता कमाल फ़ारुकी ने कहा कि इस टिप्पणी ने मुसलमानों की निष्ठा पर बेवजह संदेह पैदा किया है. उन्होंने राहुल के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. उन्होंने कहा, '' मैं राहुल से ऐसी टिप्पणियों की उम्मीद नहीं कर रहा था.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार