जद-यू के शिविर में शिवानंद ने की मोदी की तारीफ़

शिवानंद तिवारी
Image caption जदयू नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि उन्हें मोदी से डर लगता है.

जनता दल यूनाइटेड के चिंतन शिविर में पार्टी नेता शिवानंद तिवारी ने नरेंद्र मोदी की तारीफ़ करके पार्टी के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी.

नालंदा में पार्टी के चिंतन शिविर में शिवानंद तिवारी ने कहा, "जो हम लोगों के सामने चुनौती है उसको हम गंभीरता पूर्वक नहीं समझ पा रहे हैं. नरेंद्र मोदी को मैं देश के लिए एक चुनौती मानता हूँ."

उन्होंने एनडीए से गठबंधन टूटने का कारण बताते हुए कहा, "मेरा मानना यह है कि हमारा एनडीए से जो गठबंधन टूटा है वो राष्ट्रीय राजनीति के कारण टूटा है. बिहार में हमारे गठबंधन को चलाने में कोई समस्या नहीं आ रही थी लेकिन नरेंद्र मोदी को बीजेपी में बड़ा स्थान दिए जाने के कारण हम गठबंधन से अलग हुए."

नरेंद्र मोदी की तारीफ़ करते हुए शिवानंद तिवारी बोले, "मैं बहुत ईमानदारी के साथ कहना चाहता हूँ कि मैं नरेंद्र मोदी का प्रशंसक भी हूँ क्योंकि नरेंद्र मोदी जिस तबके से आए हैं, जहाँ से आए हैं, जीवन में उन्होंने जो संघर्ष किया है और संघर्ष के बाद यहाँ तक पहुंचे हैं ये कोई साधारण बात नहीं है."

मोदी से डर लगता है

Image caption मोदी ने रविवार को पटना को गाँधी मैदान में विशाल जनसभा को संबोधित किया था.

शिवानंद तिवारी ने यह भी कह दिया कि उन्हें मोदी से डर लगता है. उन्होंने कहा, 'नरेंद्र मोदी हमारे विरोधी है, हम उनसे लड़ेंगे लेकिन अपने विरोधी की ताक़त को नकार देना सबसे भारी भूल होगी. नरेंद्र मोदी एक ताक़तवर आदमी हैं, इसलिए ही हमको उनसे डर भी लगता है. डर इसलिए लगता है क्योंकि आरएसएस के सिद्धांत उसकी रग-रग में दौड़ रहे हैं.'

नरेंद्र मोदी की तारीफ़ में आगे बढ़ते हुए शिवानंद तिवारी ने कहा, "वो नरेंद्र मोदी जो पिछड़ी जात में पैदा हुआ, जिसने गरीबी देखी वो आज संरक्षण कर रहा है सिर पर मैला ढोने वालो का...."

शिवानंद तिवारी अपनी बात पूरी कर पाते इससे पहले ही कार्यकर्ता शोर मचाने लगे. एक पार्टी नेता ने आगे आकर कहा कि कार्यकर्ता कह रहे हैं कि नरेंद्र मोदी की चर्चा मत करिए अपनी पार्टी की चर्चा करिए.

राज्य सभा सांसद शिवानंद तिवारी को हाल ही में पार्टी के प्रवक्ता पद से हटाया गया है. उनका राज्यसभा कार्यकाल भी समाप्त होने जा रहा है.

बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में शिवानंद तिवारी ने कहा कि उन्होंने कोई ग़लत बात नहीं की है. उन्होंने कहा, "ये पार्टी का शिविर था, जिसमें मैंने अपनी बात रखी. पार्टी के अंदर मैंने अपनी बात रखी थी. मुझे अगर शिकायत होगी, तो मैं अपने नेताओं को ही बताऊँगा. नीतीश कुमार हमारे नेता हैं."

उन्होंने कहा कि उन्होंने नरेंद्र मोदी के बारे में ये भी कहा है कि उनका चिंतन फासीवादी है और वे देश की एकता और अखंडता के लिए ख़तरा हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार